Loading...

MP: किसान लोन माफी प्रक्रिया शुरू, पढ़िए किस तरह का LOAN माफ होगा, कौन सा नहीं | BUSINESS NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू होते ही जिला सहकारी बैंक द्वारा किसानों की लोन माफी की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। सहकारी बैंक ( Cooperative bank ) ने जिले की सभी कॉपरेटिव सोसायटियों को एक प्रोफार्मा भेजकर लोन संबंधी जानकारी मंगाई है। बकायादार किसानों की जानकारी जिला सहकारी बैंकों के प्रबंधनों ने गुरुवार शाम को अपेक्स बैंक ( APEX Bank ) भोपाल में भिजवा दी हैं। इसमें कालातीत, ऋणी और अऋणी किसानों के बारे में उनकी पूरी जानकारी शामिल की गई है। 

ज्यादातर किसानों पर एग्रीकल्चर लोन ( Agricultural loan ) है जिसमें किसानों ने खाद-बीज खरीदने के लिए सहकारी बैंक से लोन लिया है। इसके अलावा डेयरी, कनवर्सन और एनपी आदि मदों में भी लोन लिया गया है। सहकारी बैंकों में करीब 90 प्रतिशत लोन बकाया चल रहे हैं। 

2 लाख तक केसीसी लोन लेने वाले को मिलेगा फायदा / The beneficiaries of KCC loans up to 2 lakh will get the benefit : 

किसानों के लोन माफी आदेश होने पर इसमें से 2 लाख तक केसीसी लोन लेने वाले किसानों को कर्जमाफी का फायदा मिल सकता है। इसी प्रकार कमर्शियल बैंकों से भी किसानों ने एग्रीकल्चर लोन ले रखा है। कमर्शियल बैंकों को किसानों से पूरा लोन वसूल करना है। इसमें से पूरी राशि किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए कृषि कार्यों के लिए ली गई है। 

आगे क्या... दो-दो बैंकों से कर्जमाफी का फायदा नहीं मिलेगा / Debt waiver will not benefit from two or two banks


जिले के हजारों किसानों ने सहकारी बैंक के अलावा कमर्शियल बैंकों से भी करोड़ों रुपए का एग्रीकल्चर लोन ले रखा है। दोनों बैंकों के केसीसी भी अलग-अलग बनवा रखे हैं। जिन किसानों ने दो-दो बैंकों से एग्रीकल्चर लोन ले रखा है, उन्हें दोनों शाखाओं से लोन माफी का फायदा नहीं मिलेगा। आधार कार्ड से बकायादार किसानों के बैंक खातों की पहचान की जाएगी। इधर, किसानों की लोन माफी की सुगबुगाहट की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में किसान शुक्रवार से ही बैंक शाखाओं के चक्कर लगाने लगे हैं। किसान अपने लोन खातों की जानकारी एकत्र कर रहे हैं।