Loading...

SC/ST ACT: एक मंत्री पर चूड़ियां फैंकी, दूसरे मंत्री मुर्दाबाद नारे सुनाए | MP NEWS

ग्वालियर। SC/ST एक्ट का तीव्र विरोध पूरे प्रदेश में नजर आ रहा है। बिना किसी संगठन और बिना किसी नेता के लोग SC/ST एक्ट के विरोध में सड़कों पर उतर रहे हैं और सांसद/विधायक व मंत्रियों से सवाल कर रहे हैं। लोगों ने जिन्हे वोट दिए थे, उनके सामने अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। आज मध्यप्रदेश के मुरैना में स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह को सामान्य वर्ग के मतदाताओं के गुस्से का सामना करना पड़ा। लोगों ने उनकी कार पर चूड़ियां फैंकी, काले झंडे दिखाए। इससे पहले सांसद प्रभात झा को काले झंडे के साथ चूड़ियां भेंट की थीं। इधर गुना में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत के सामने भी विरोध प्रदर्शन किया गया। 

मुरैना के जीवाजीगंज टाउनहॉल में भारतीय डाक विभाग के कार्यक्रम में शामिल होने आए सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह का SC/ST एक्ट को लेकर सवर्ण समाज ने किया कड़ा विरोध किया। इस दौरान उन्हें काले झंडे दिखाए गए। इतना ही नहीं इस दौरान उनकी गाड़ी पर चूड़ियां भी फेंकी गई। शुक्रवार को मुरैना में ही बीजेपी सांसद प्रभात झा का भी इसी तरह विरोध किया गया था। इस आंदोलन को सामान्य वर्ग के कर्मचारियों का भी समर्थन मिल रहा है। 

मंत्री ने कहा कानून पर अंकुश नहीं लगाएंगे
बता दें कि शनिवार को ही मध्य प्रदेश के गुना पहुंचे केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत का भी SC/ST कानून में संशोधन को लेकर घेराव किया गया। सैंकड़ों की तादाद में युवाओं ने सर्किट हाउस पहुंचकर मंत्री का घेराव किया और मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। अपने सीने पर कानून के विरोध के पोस्टर चिपकाकर युवाओं ने केंद्रीय मंत्री गहलोत से मुलाकात की। मंत्री ने कहा कि SC-ST एक्ट संवैधानिक है इसलिए कानून पर अंकुश नहीं लगाया जा सकता। यह कानून केवल आपराधिक प्रवृत्तियों के खिलाफ है न कि निर्दोषों के खिलाफ है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com