फ्रेंडशिप डे: 10वीं के छात्र ने 46 लाख रुपए दोस्तों में बांट दिए | MP NEWS

Advertisement

फ्रेंडशिप डे: 10वीं के छात्र ने 46 लाख रुपए दोस्तों में बांट दिए | MP NEWS

जबलपुर। पिछले हफ्ते दुनियाभर में फ्रेंडशिप डे बड़े धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर लोगों ने अपने दोस्तों को खास उपहार भी दिए। लेकिन मध्य प्रदेश में एक 10वीं के छात्र ने जो किया उस सुन कर सब हैरान रह गए। जबलपुर जिले में फ्रेंडशिप डे के दिन एक छात्र ने अपने पिता के 46 लाख रुपये चुराकर स्कूल के दोस्तों में बांट दिए। छात्र ने दिहाड़ी मजदूरी करने वाले दोस्त को सबसे ज्यादा 15 लाख रुपये दिए। वहीं होमवर्क करने वाले एक क्लासमेट को तीन लाख रुपये दिए। इतना ही नहीं छात्र ने स्कूल और कोचिंग में अपने साथ पढ़ने वाले 35 साथियों को स्मार्टफोन्स दिलाए तो, कईयों को चांदी की चेन गिफ्ट की। कहा जा रहा है कि छात्र के एक दोस्त ने हाल ही में एक नई कार खरीदी है।

बिल्डर का बेटा है 
छात्र के पिता पेशे से बिल्डर हैं। बिल्डर ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि उसकी अलमारी से 60 लाख रुपये गायब हो गए हैं। उसने हाल ही में हुए एक सेल से मिले 60 लाख रुपये अलमारी में रखे थे। पैसे गायब होने का पता चलते ही वह पुलिस के पास पहुंचा। शिकायत दर्ज होने के बाद जांच के लिए पहुंची पुलिस को चोरी जैसा कुछ भी मामला नहीं लगा।

अब वसूली कर रही है पुलिस
इसके बाद जांच में पता चला कि बिल्डर के बेटे ने कैश निकालकर अपने दोस्तों और जरुरतमंद लोगों में बांट दिए। इसके बाद छात्र के पिता ने पुलिस को एक लिस्ट दी जिसके आधार पर पुलिस सभी छात्रों से संपर्क करने की कोशिश में लगी है। अभी तक पुलिस ने 15 लाख रुपये रिकवर कर लिए हैं। वहीं, दिहाड़ी मजदूर का बेटा पैसो मिलने के बाद से गायब है। ज्यादा रकम पाने वाले पांच स्टूडेंट्स के पैरंट्स को बुलाकर पांच दिन में पैसे वापस करने को कहा गया है।

एसआई बीएस तोमर ने कहा कि हमने अब तक 15 लाख रुपये रिकवर किए हैं और बाकी के लिए कोशिश जारी है। 15 लाख पाकर एक दिन में अमीर हुए स्टूडेंट पर उन्होंने कहा, 'हम उसकी तलाश कर रहे हैं और उसने अभिभावकों से पैसे वापस करने को कहा गया है।' सभी छात्रों के नाबालिग होने के चलते कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com