Loading...

दुनिया जानती है, कौन आतंकियो को कंधार तक ससम्मान छोड़ने गया: कमलनाथ | MP NEWS

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि 14 अगस्त को मध्यप्रदेश में रहने वाले हर शहीद का सम्मान का किया जाएगा। भाजपा और सरकार उनके घर जाएगी। मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने इस आयोजन पर प्रतिक्रिया दर्ज कराई है। कमलनाथ ने कहा कि शहीदों के घर तो मुख्यमंत्री सरकार व जिम्मेदारों को हर समय जाना चाहिये, उनके दुःख में सदैव सहभागी बनना चाहिये लेकिन ये सब शिवराज को चुनावी वर्ष में ही क्यों याद आता है ? चुनावी फायदे के लिये भाजपा शहीदों के नाम का उपयोग ना करे।

तेरह वर्ष की शिवराज सरकार बताये इसके पूर्व कौन सी 14 अगस्त को वो सरहद व आंतरिक सुरक्षा में अपने प्राण न्योछावर करने वाले पुलिस, अर्धसैनिक बल, जल, थल, वायु सेना के प्रदेश के शहीद जवानो के घर गयी? चुनावी वर्ष में ही उसे शहीदों के घर जाने की याद आयी? भाजपा सरकार विकास के मुद्दे पर फैल हो चुकी है, कांग्रेस के विकास के मुद्दे पर पूछे गये सवालों का जब उसके पास कोई जवाब नहीं है तो वो इस तरह के आयोजन मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये करती है। भाजपा को चुनावी वर्ष में ही गरीब, किसान, शहीद, मजदूर याद आते है?

नाथ ने कहा कि भाजपा शुरू से ही देश भर में सर्जिकल स्ट्राइक से लेकर सेना के नाम का उपयोग भी राजनैतिक फायदे के लिये करती रहती है। अब प्रदेश में वो शहीदों के नाम पर राजनीति करने जा रही है। भाजपा शहीदों के घर जाये, कांग्रेस को कोई आपत्ति नहीं लेकिन हमेशा जाये सिर्फ चुनावी वर्ष में ही ना जाये और उसे प्रचारित कर उस पर राजनीतिक बयानबाजी ना करे। उसका राजनैतिक फायदा लेने की कोशिश ना करे।

नाथ ने कहा कि शिवराज हमें देशभक्ति का पाठ भी ना पढ़ाये। जिस पार्टी के एक भी व्यक्ति ने आजादी की लड़ाई में कुर्बानी ना दी हो वो हमें देशभक्ति का पाठ ना पढ़ाये। सब जानते है कि आतंकियों को लेकर भाजपा का क्या नजरिया है। कौन आतंकियो को कंधार ससम्मान छोड़ने गया? किसने अलगाववादियों की समर्थक पीडीपी से सिर्फ सत्ता के लिये समझौता किया? किसकी सरकार में पठानकोट में आईएसआई को आने की इजाजत मिली? देश की संसद पर किसके कार्यकाल में आतंकी हमला हुआ? कौन सी पार्टी सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति करती है? ऐसे सैकड़ो उदाहरण मौजूद है, जिससे देशवासी भाजपा की वास्तविकता जानते है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com