शिवराज सरकार के खिलाफ किसानों का पैदल मार्च शुरू

15 May 2018

इंदौर। चुनावी साल में मप्र की भाजपा सरकार की समस्याएं समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। खुद को किसान का बेटा कहने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान के खिलाफ एक बार फिर किसान आंदोलन की राह पर है। सोमवार को इंदौर के राजबाड़ा से किसानों का दल पैदल भोपाल के लिए रवाना हुआ। इस आंदोलन के तहत हजारों की संख्या में किसान भोपाल तक पैदल यात्रा कर पहुंचेंगे और वहां प्रदर्शनक करेंगे। प्रदेश में हुए किसान आंदोलन की बरसी (2 जून) से पहले किसान फिर एकजुट हो गए हैं। सोमवार (14 मई) से एक बार फिर किसानों का आंदोलन प्रारंभ हो गया है। इसके तहत 14 से 21 मई तक किसानों के कई जत्थे इंदौर से भोपाल तक पैदल मार्च करेंगे। उपज के सही दाम नहीं मिलने, टीएंडसीपी के विवादित एक्ट में बदलाव सहित विभिन्न मांगों को लेकर किसानाें द्वारा भोपाल पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

भारतीय किसान सेना कर रही अगुवाई

किसानों के इस सात दिनी आंदोलन का नेतृत्व भारतीय किसान सेना द्वारा किया जा रहा है। आंदोलन से पहले किसान सेना की टीम ने संभाग की अलग-अलग पंचायतों में जाकर बैठक ली थी। भोपाल तक यात्रा करने वाले किसानों की सूची बनाई गई है।

यह है किसानों की मांग

नगर तथा ग्राम निवेश विभाग का वह एक्ट, जिसमें जमीन जाने पर किसान किसी कोर्ट में अर्जी नहीं लगा सकता है, उसे वापस लिया जाए।
सभी किसानों को ऋण मुक्त किया जाए, चाहे राष्ट्रीय कृत बैंक/सहकारी बैंक का ओवरड्यू हो।
नर्मदा-शिप्रा लिंक परियोजना का पानी किसानों से शुल्क लेकर सिंचाई हेतु उपलब्ध कराया जाए।
उज्जैनी से उज्जैन तक पानी ले जाने वाली पाइप लाइन को निरस्त किया जाए एवं सहायक नदियां जय जयवंती व आशावती नदियों में भी पानी छोड़ा जाए।
भावांतर योजना में मॉडल रेट को समाप्त कर शासन द्वारा घोषित मूल्य किसान को मिलना चाहिए।
कृषि व उद्यानिकी विभाग द्वारा किसानों के नाम पर की जाने वाली सभी प्रकार की खरीदी पर तुरंत रोक लगाई जाए व सीधे सब्सिडी उनके खाते में 30 दिन में प्रदान की जाए।
किसानों द्वारा खरीदे जाने वाले कृषि यंत्र मशीनरी आदि पर एमपी एग्रो की मध्यस्थता समाप्त की जाए।
शहर या ग्रामीण सीलिंग की भूमि जिस पर शासन का नाम दर्ज हो चुका है उसे हटाकर कब्जेधारी किसान का नाम दर्ज होना चाहिए।
शासन द्वारा अमूल की तर्ज पर सांची डेयरी का भी संचालन किया जाए।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week