बेटी की मौत के बावजूद अंजान की जान बचाई: वर्दी में भगवान | NATIONAL NEWS

Saturday, March 3, 2018

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के एक पुलिस अधिकारी ने संवेदनशीलता की एक ऐसी मिसाल पेश की है, जिसके कारण पुलिस और वर्दी के प्रति सम्मान बढ़ जाता है। जानलेवा हमले में घायल हुए अंजान व्यक्ति को बचाने जा रहे एक पुलिस अधिकारी को रास्ते में पता चला कि उनकी नवविवाहिता बेटी की मौत हो गई है। कुछ देर के लिए वो सुधबुध खा बैठे, लेकिन फिर उठे और मरणासन्न व्यक्ति को बचाने निकल पड़े। उन्होंने व्यक्तिगत दुख के छुपाकर एक इंसान की जान बचाई। पूरे देश में उनकी सराहना हो रही है। भूपेंद्र की बेटी ज्योति प्राइमरी हेल्थ सेंटर में एक नर्स के तौर पर काम करती थी। एक साल पहले उसकी शादी 28 वर्षीय सौरभ काकरान से हुई थी। अचानक बाथरूम में गिर जाने के कारण ज्योति की मृत्यु हो गई। पूरा परिवार सदमे में है।

मामला उत्तरप्रदेश के सहारनपुर का है, जहां पर 57 वर्षीय भूपेंद्र तोमर 23 फरवरी की सुबह 9 बजे रोजाना की तरह अपने साथियों के साथ उत्तर प्रदेश 100 गाड़ी पर सवार होकर पेट्रोलिंग के लिए निकले थे। टीम बड़गांव इलाके में पेट्रोलिंग कर रही थी कि तभी उन्हें सूचना मिली कि एक व्यक्ति खून से लथपथ सड़क पर पड़ा हुआ है, जिसपर उसके साथियों ने किसी धारदार हथियार से कई वार किए हैं।

टीम यह खबर सुनने के बाद घटनास्थल पर पहुंचने के लिए निकली कि तभी भूपेंद्र के पास एक फोन आया, जिसमें उन्हें बताया गया कि उनकी 27 वर्षीय बेटी ज्योति की मौत हो गई है। एक साल पहले ही शादी कर अपने ससुराल गई बेटी की मौत की खबर सुन भूपेंद्र दुखी हो गए, लेकिन वे घर नहीं गए। टीम के सदस्यों ने उन्हें घर जाने के लिए कहा लेकिन भूपेंद्र ने उनसे कहा कि वह पहले सड़क पर खून से लथपथ पड़े उस व्यक्ति को बचाएंगे। बेटी की मौत की पीड़ा को छिपाते हुए भूपेंद्र और उनकी टीम के सदस्य उस व्यक्ति तक पहुंचे, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया और तब भूपेंद्र अपने घर पहुंचे।

बिजनौर के रहने वाले भूपेंद्र ने इस पर बात करते हुए कहा “जो मर गया उसे छोड़ो, लेकिन जो जिंदा है उसे बचाना हमारा फर्ज था। मुझे नहीं लगाता कि ऐसा करके मैंने कोई अलग काम किया है।” भूपेंद्र के इस साहस के लिए उन्हें सहारनपुर के डीआईजी और एसएसपी द्वारा सम्मानित किया गया है। शुक्रवार को उन्हें उच्च अधिकारियों द्वारा सम्मानित किया गया। आपको बता दें कि  भूपेंद्र की बेटी ज्योति प्राइमरी हेल्थ सेंटर में एक नर्स के तौर पर काम करती थी। एक साल पहले उसकी शादी 28 वर्षीय सौरभ काकरान से हुई थी। अचानक बाथरूम में गिर जाने के कारण ज्योति की मृत्यु हो गई, जिससे उसका पूरा परिवार सदमे में है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah