LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





BHOPAL पुलिस ने मुंबई से कनेक्ट सेक्स रैकेट पकड़ा लेकिन खुलासा नहीं किया | CRIME NEWS

06 March 2018

भोपाल। भोपाल पुलिस ने बीते रोज एक ऐसे लोकल सेक्स रैकेट को पकड़ा जिसका कनेक्शन मुंबई से था। वहां से लड़कियों को बुलावाकर यहां सप्लाई किया जाता था। पुलिस ने एक किसान और प्राइवेट कर्मचारी के साथ मौज मस्ती कर रही मुंबई की लड़की और सेक्स रैकेट की संचालक महिला को भी पकड़ा परंतु पूरे खेल का खुलासा नहीं किया। पुलिस बड़ी ही चतुराई के साथ सेक्स रैकेट के दूसरे सदस्यों के नाम एवं ग्राहकों की जानकारी छुपा गई। बताया जा रहा है कि भोपाल के कई कारोबारी, नेता और अधिकारी इस सेक्स रैकेट के नियमित ग्राहक हैं। 

रविवार की दोपहर भेल संगम कॉलोनी के रहवासियों की सूचना पर कॉलोनी के मकान सी- 93 से दो युवकों और एक युवती को हिरासत में लिया गया था। इसमें से एक उमरावगंज निवासी प्रवीण पटेल है, जो किसान है और उसका साथी अनुजा विलेज निवासी अर्जुन चौकसे एमपी नगर में प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है। पूछताछ में 26 वर्षीय युवती ने बताया है कि वह मुंबई की रहने वाली है। अशोका गार्डन में रहने वाली 30 वर्षीय महिला के कहने पर वह 25 फरवरी को भोपाल आने के लिए ट्रेन पर सवार हुई थी। 27 फरवरी से वह भोपाल में है।

वॉट्सग्रुप पर चलता है रैकेट
सेक्स रैकेट वॉट्सएप पर चलता है। इसी ग्रुप में ग्राहक के नंबरों को जोड़ा जाता है। कॉल गर्ल के फोटो इन ग्रुप पर वायरल किए जाते हैं। डिमांड करने वाले के पते पर कॉल गर्ल को भेजा जाता है। इसी कड़ी में शिवाजी नगर मुंबई से इस 26 वर्षीय युवती को भोपाल भेजा गया था। जहां पर लोकल नेटवर्क के जारिए दो हजार रुपए में उसका सौदा तय हुआ था।

पुलिस ने किया अधूरा खुलासा
बागसेवनिया पुलिस ने इस मामले में आधा खुलासा किया। पत्रकारवार्ता में जब सवाल पूछे गए जिन्हें जांच का हवाला देकर टाल दिया गया। वे ये सवाल हैं।
कॉल गर्ल कितनी बार भोपाल आ चुकी है?
छह दिन से भोपाल में थी, इस दौरान कितने स्थानों पर गई?
लोकल महिला दलाल का क्या प्रोफाइल है, क्या वह पहले भी पकड़ी जा चुकी है?
उसके मोबाइल डिटेल में किन- किन लोगों के नाम शामिल हैं?
भोपाल में वह किन-किन लोगों से जुड़ी हुई है?

पूछताछ की जा रही है
बागसेवनिया पुलिस ने एक मकान से युवती और दो युवकों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था। उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। शुरुआती जांच में यह रैकेट वॉट्सएप पर संचालित किया जा रहा था। आरोपितों से पूछताछ की जा रही है।
विकास कुमार, एएसपी जोन-2



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->