अंबेडकर चाहते थे नौकरी मत मांगो: डॉ. सहस्रबुद्धे | MP NEWS

Monday, February 12, 2018

भोपाल। बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर कहा करते थे, नौकरी मांगो मत, नौकरी दो, इसलिए हमारी नरेंद्र मोदी सरकार ने मुद्रा योजना चलाई। यह बात भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रदेश प्रभारी एवं सांसद डॉ. विनय सहस्रबुद्धे ने अशोकनगर जिले के बहादुरपुर में अनुसूचित जाति मोर्चा के एक विशाल सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। बता दें कि इन दिनों लोग पीएम नरेंद्र मोदी कार्यकाल में घटीं सरकारी नौकरियों पर सवाल उठा रहे हैं और चुनावी वादा भी याद दिला रहे हैं जिसमें करोड़ों बेरोजगारों को नौकरी देने की बात की गई थी। मुद्रा योजना के तहत अपना व्यापार शुरू करने के लिए 10 हजार रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक के लोन दिए जाते हैं। 

अशोकनगर जिले की मुंगावली सीट पर इन दिनों विधानसभा उपचुनाव चल रहे हैं। इसी सिलसिले में भाजपा नेताओं के थोकबंद अशोकनगर दौरे जारी हैं। डॉ. सहस्रबुद्दे ने कहा कि डॉ भीमराव अंबेडकर को इन्हीं कांग्रेसियों ने महाराष्ट्र में चुनावों में दो बार हराया और वोट पाने के लिए उनके स्वर्गवास के पचास वर्षों बाद उन्हें भारत रत्न दिया। बाबा साहब अंबेडकर हमारी आशा और आकांक्षा के प्रतीक हैं। बाबा साहब कहा करते थे कि नौकरी मांगों मत नौकरी दो इसलिए हमारी मोदी सरकार ने मुद्रा योजना चलाई। 

जानिए क्या है मुद्रा योजना
देश में छोटे और मध्यम आकार के उद्योगों (Small Business/MSME) की वित्तीय आवश्यकताओं (Financial Needs) को पूरा करने के लिए भारत सरकार ने अप्रेल 2015 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) की शुरुआत की हैं। 

अगर कोई व्यक्ति अपना Business शुरु करना चाहता हैं या फिर अपने वर्तमान बिज़नेस को आगे बढ़ाना चाहता हैं, तो वह सामान्यत: Bank से Loan के लिए आवेदन करता हैं|लेकिन Bank से Loan लेने की प्रक्रिया बहुत जटील होती हैं और इसके लिए गारंटी भी देनी पड़ती हैं जिसके कारण ज्यादातर व्यक्ति Bank से Loan लेने कतराते हैं। 

इसी बात को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने लघु उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए Mudra (Micro Units Development Refinance Agency) Scheme को लांच किया हैं। 

मुद्रा योजना के लाभ – Benefits of Mudra Scheme
मुद्रा स्कीम के तहत सामान्यत: बिना गारंटी (Without Guarantee) के Loan प्रदान किये जाते हैं
मुद्रा योजना के तहत Loan प्रदान करने में किसी भी तरह की Processing Fees चार्ज नहीं की जाती हैं|
मुद्रा लोन की पुनः भुगतान अवधि (Repayment Period) को 5 वर्ष तक बढाया जा सकता हैं|
Working Capital Loan को Mudra Card के द्वारा प्रदान किया जा सकेगा|

योग्यता  – Who are Eligible to Avail Loan Under Mudra Scheme? 
कोई भी भारतीय नागरिक या फर्म जो किसी भी क्षेत्र (खेती के आलावा) में अपना व्यवसाय (Business) शुरू करना चाहता हैं या फिर अपने वर्तमान व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहता हैं और उसकी वित्तीय आवश्यकता (Financial Needs) 10 लाख रूपये  तक हैं वह प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Mudra Loan Scheme) के तहत Loan के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Types of Loan Under Mudra Scheme – मुद्रा लोन के प्रकार 
Mudra Scheme (मुद्रा योजना) के तहत  Mudra Loan को विभिन्न व्यवसायों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तीन भागों में विभाजित किया है। मुद्रा योजना के तहत ऋण के तीन प्रकार हैं:

Shishu Loan : शिशु ऋण के तहत 50,000/ – रुपये तक के ऋण दिए जाते है|
Kishor Loan : किशोर ऋण के तहत 50,000 / – रुपये के ऊपर और 5 लाख रूपए तक के ऋण दिए जाते है|
Tarun Loan : तरुण ऋण के तहत 5 लाख रूपये से ऊपर और 10 लाख रुपये तक के ऋण दिए जाते है|
मुद्रा योजना के तहत  कम से कम 60% ऋण, शिशु ऋणों के रूप में दिया जाएगा|

Interest Rates of Mudra Bank Loan – ब्याज दर 
Mudra Loan के तहत कोई निश्चित ब्याज दर (Interest Rate) नहीं हैं|ब्याज दर विभिन्न बैंकों में अलग-अलग हो सकती हैं तथा आवेदक के व्यवसाय की Risk के आधार पर भी Bank Interest Rate भिन्न-भिन्न हो सकती हैं। सामान्यत: Mudra Loan की Interest Rate 12% प्रति वर्ष के आस-पास होती हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah