मप्र पुलिस अफसरों के संरक्षण में चल रहा था देहव्यापार | MP NEWS

Friday, December 8, 2017

इंदौर। DESIRE THAI SPA INDORE में पकड़े गए देह व्यापार मामले में नया मोड़ आया है। इस मामले में स्पा सेंटर संचालक गणेश राठौर (GANESH RATHOR) ने बताया कि वो पुलिस के संरक्षण में यह कारोबार कर रहा था। मामले का खुलासा होते ही बीट प्रभारी एसआई एमरकस टोप्पो, सिपाही सचिन शर्मा, रामकृष्ण व रामप्रसाद को सस्पेंड कर दिया था परंतु जांच के दौरान चारों पुलिस कर्मचारियों ने बताया कि तत्कालीन महिला सीएसपी एवं 2 टीआई के संरक्षण में यह कारोबार चल रहा था। वो कार्रवाई करने से मना करते थे। 

वाकया तुकोगंज थाना क्षेत्र स्थित वेस्टरन कॉर्पोरेट (न्यू पलासिया) का है। क्राइम ब्रांच ने 9 अक्टूबर को इमारत में दबिश देकर डिजायर थाई स्पा से लड़के-लड़कियों और ग्राहकों को गिरफ्तार किया था। संचालक गणेश राठौर ने अफसरों को बताया कि वह पुलिस से सांठगांठ कर स्पा की आड़ में देहव्यापार चला रहा था। राठौर ने बीट प्रभारी एमरकस टोप्पो, सिपाही सचिन शर्मा, रामकृष्ण व रामप्रसाद पर रुपए लेने का आरोप लगाया।

नाराज अफसरों ने चारों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर कोतवाली सीएसपी बीपीएस परिहार को जांच सौंप दी। सीएसपी ने सभी पुलिसकर्मियों के बयान लिए तो उन्होंने तत्कालीन महिला सीएसपी और टीआई पर देह व्यापार को प्रश्रय देने का आरोप लगाया। एएसआई व सिपाही ने कहा कि स्पा की चेकिंग करने पर दोनों अफसर कॉल कर धमकाते थे। सीएसपी की रिपोर्ट के बाद डीआईजी ने निलंबित पुलिसकर्मियों बहाल कर दिया।

बड़े अफसरों को मालूम है, तुम वहां जांच मत करो
एएसआई टोप्पो ने कहा कि स्पा में देहव्यापार की सूचना पर 22 जुलाई 2016 को सिपाही सचिन के साथ स्पा की जांच करने गया था। कुछ देर बाद ही तत्कालीन टीआई और सीएसपी का कॉल आया। उन्होंने कहा था कि नीचे से लेकर ऊपर तक सभी अफसरों को जानकारी है। आज के बाद वहां मत जाना। एएसआई ने संचालक को थाने पर तलब भी किया था, लेकिन वरिष्ठ अफसरों का सहयोग नहीं मिलने पर उसे रवाना करना पड़ा।

सिपाही सचिन ने भी तत्कालीन टीआई पर धमकाने का आरोप लगाया है। उसने बताया कि स्पा के बारे में तत्कालीन टीआई और वर्तमान टीआई को अवगत कराया था। चेकिंग से नाराज टीआई ने उसे थाने बुलाया और रीगल चौराहा पर ड्यूटी लगा दी थी। पुलिसकर्मियों ने अफसरों से कहा कि इस मामले में तत्कालीन टीआई और सीएसपी (रिटायर्ड) से भी पूछताछ करना चाहिए।

रिपोर्ट अफसरों को सौंप दी
पुलिसकर्मियों ने वरिष्ठ अधिकारियों का नाम लिया था। मामले की रिपोर्ट अफसरों के सामने प्रस्तुत कर दी है 
बीपीएस परिहार, सीएसपी कोतवाली

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week