मालवई माता: यहां LONE के लिए एप्लिकेशन लगाते हैं लोग

Tuesday, September 26, 2017

अलीराजपुर। यदि आपको लोन चाहिए तो आप क्या करेंगे। सारी दुनिया का एक ही जवाब होगा। बैंक के पास जाएंगे या फिर लोन बांटने वाली किसी कंपनी के पास। ग्रामीण इलाकों में लोग कहेंगे साहूकार सा सूदखोर के पास परंतु यहां ऐसा नहीं होता। यहां जिसे भी कर्ज की जरूरत होती है वो मालवई माता के मंदिर में आता है और अर्जी लगाकर चला जाता है। इस प्राचीन मंदिर का यह चमत्कार है कि जल्द ही उसे उचित ब्याज दरों पर कर्ज मिल जाता है। व्यापारियों में भरोसा है कि मालवई माता का सिक्का मिल जाए तो साल भर व्यापार फलता फूलता रहता है। 

दरअसल, जिले से करीब 6 किलोमीटर दूर मालवई गांव में स्थित यह है मां चामुंडा का मंदिर, जो अब पूरे इलाके में मालवई माता के मंदिर के रूप में जाना जाता है। मां चामुंडा का यह अति प्राचीन मंदिर, जो अलीराजपुर के इतिहास की धरोहर तो है ही, भक्तो की आस्था का केंद्रबिंदु भी है। सालों पुराने इस मंदिर में मां चामुंडा की प्राचीन मूर्ति है, जहां वर्षों से भक्त पूजा-अर्चना करते आ रहे हैं।  जैसे-जैसे समय बीतता गया इस मंदिर के लिए भक्तों की आस्था भी बढ़ती चली गयी, अब तो पूरे साल यहां भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है। 

इस मंदिर पर रोज सैकड़ों श्रद्धालु आते हैं, वहीं नवरात्र मे यहां हजारों की संख्या मे श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ती है। मालवाई माता का दरबार जहां पूरे साल भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है, लेकिन कहते हैं नवरात्रि में भक्तों को मां चामुंडा का विशेष आशीर्वाद मिलता है, कहा तो यह भी माता के दरबार से अब तक कोई खाली हाथ नहीं लौटा है।

लोगों की आस्था का केंद्र बन चुके इस मंदिर में सैकड़ों किलोमीटर दूर से श्रद्धालु अपनी मन्नते लेकर आते हैं, अलीराजपुर और आस-पास के इलाकों में मालवाई माता कर्ज देने वाली माता के नाम से भी प्रसिद्ध हैं। लोगों की माने तो मुसीबत में लोग मां से कर्ज के रूप में आर्थिक मदद भी मांगते हैं। व्यापारी वर्ग के लिए इस स्थान का बहुत महत्व है, कहा जाता है कि मालवाई माता से कर्ज लेकर शुरू किया गया व्यापार हमेशा फलता-फूलता है।

लोग का मानना है की आर्थिक मुसीबतों में माता के दरबार में अगर कर्ज के लिए अर्जी लगायी जाये तो जल्द ही पैसों की व्यवस्था हो जाती है, यानि भक्तों को किसी भी रूप में आसानी से कर्ज मिल जाता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah