घर बैठे पता लगाएं खाद्य पदार्थों में मिलावट है या नहीं

Monday, July 24, 2017

रोजमर्रा की खाने-पीने वाली चीजों में मिलावट आज आम बात हो गई है। कई बार देखा गया है कि मिलावट के कारण गंभीर बीमारियां हो रही हैं। ये मिलावट ऐसे की जाती हैं कि आप इसे आसानी से पहचान नहीं पाते। आप थोड़े अलर्ट रहकर इससे बच सकते हैं। यहां जानें कैसे बचें मिलावट से-

प्लास्टिक के चावल
चावल में अक्सर प्लास्टिक के चावल मिलाए जाते हैं, जिसका आपके डाइजेस्टिव सिस्टम पर बुर प्रभाव होता है। साथ ही आपके शरीर के और भी ऑर्गन भी प्रभावित होते हैं।
कैसे पहचानें: चावल को पानी में भिगो कर रख दें। प्लास्टिक के चावल कुछ देर बाद तैरने लगेंगे।

आटे में चॉक बाउडर
आटे में अक्सर चॉक पाउडर, मैदा, ज्वार या जौ का आटा मिला दिया जाता है। ऐसा आटा खाने से आपका वजन बढ़ने लग जाता है। साथ ही यह आपके डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए भी खतरनाक होता है।
कैसे पहचानें: ऐसा आटा गूंथने में ज्यादा समय लगता है। रोटी बनाने में भी समय लगता है साथ ही रोटी भी नहीं फूलती।

लाल मिर्च में रंग या ईंट का चूरा 
लाल मिर्च में लाल रंग या ईंट का चूरा मिलाते हैं। कुछ-कुछ लोग तो बालू भी मिलाते हैं। इससे आपको किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है। साथ ही यह आपके लिवर को भी डैमेज करता है।
कैसे पहचानें: पानी में मिर्च पाउडर डालें, पानी अगर लाल हो जाए तो समझ जाएं ये मिलावटी है। ईंट या बालू होने पर यह नीचे जम जाएगा।

गरम मसाला में बुरादा, रंग और मिट्टी
गरम मसाला जैसा रंग और टेक्सचर लाने के लिए बुरादा, रंग और मिट्टी मिलाया जाता है। यह आपके डाइजेस्टिव सिस्टम, आंत और दांत को प्रभावित करता है।  
कैसे पहचानें: गरम मसाले को पानी में डालने से यह रंग बदल देगा साथ ही जो भी मिलावटी कण होंगे वो नीचे जम जाएंगे।

दाल में मेटानिल येलो सिंथेटिक डाई
दालों को चमकता पीला बनाने के लिए मेटानिल येलो सिंथेटिक डाई का इस्तेमाल किया जाता है। जिससे आपको किडनी में समस्या और नर्वस सिस्टम पर भी असर पड़ता है।
कैसे पहचानें: पानी में हाइड्रोकोलिक एसिड डालें और जब रंग गुलाबी हो जाए तो समझ जाएं कि दाल को जबरन रंगा गया है।

दूध में स्टार्च, यूरिया और कास्टिक सोडा
दूध में स्टार्च, यूरिया और कास्टिक सोडा मिलाया जाता है। जिससे डाइजेशन, लिवर, ज्वाइंट्स और किडनी से संबंधित बीमारियां होने लगती हैं।
कैसे पहचानें: चिकने फर्श पर दूध की एक बूंद गिराएं अगर वो दाग छोड़ जाए तो समझ लीजिए दूध मिलावटी है।

शहद में चाशनी
मिलावटी शहद को शहद सा गाढ़ा बनाने के लिए गुड़ या चीनी की चाशनी मिलाई जाती है। इससे डायबिटीज और मोटापा बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है।
कैसे पहचानें: उंगली पर शहद की एक बूंद रखें अगर यह आसानी से फैला जाता है तो समझ लीजिए शहद मिलावटी है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah