ये शहीद का शव नहीं था फिर भी पुलिस ने दिया अर्थी को कंधा | DEWAS MP NEWS

Friday, February 9, 2018

देवास। एक ओर जहां पुलिस बर्बरता के लिए बदनामी सहन करती है। वहीं पीपलरावां थाने के पुलिसकर्मियों ने एक अर्थी को कंधा देकर उसका अंतिम संस्कार करते हुए मानवता की अनूठी मिसाल पेश की है। जिसने भी यह नजारा देखा तो पुलिस की इस संवेदनशीलता की हर एक ने तारीफ की।

जानकारी के मुताबिक बुधवार को चौबाराधीरा के कंजर डेरा निवासी अंतरसिंह पिता मरदानिया कंजर (88) का निधन हो गया था। इसके बाद घरवाले व समाजजनों ने श्मशान ले जाकर अंतिम संस्कार करने का निर्णय लिया लेकिन ग्रामीणों ने उक्त स्थान पर अंतिम संस्कार करने पर आपत्ति जताई। इस कारण विवाद की स्थिति निर्मित होने लगी।

परिवारजन व ग्रामीणों में किसी प्रकार का विवाद न हो इस पर टीआई शैलजा भदौरिया पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची। टीआई भदौरिया ने सरपंच देवीसिंह कुशवाह के साथ सार्वजनिक श्मशान पर जगह तय कर अंतिम संस्कार कराने का निर्णय लिया। उपस्थित पुलिसकर्मियों ने मृतक के पुत्र के साथ अर्थी को कंधा देकर एक किमी दूर सार्वजनिक श्मशान के स्थान पर अंतिम संस्कार के लिए स्थान देकर अंतिम संस्कार करवाया गया। पुलिस की इस कार्यप्रणाली की सभी ग्रामीणों ने प्रशंसा की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week