बड़ा सवाल: हमले की सूचना से 12 मिनट पहले CM ने आक्रोश कैसे जता दिया

Saturday, February 3, 2018

नई दिल्ली। हरियाणा की सेंट्रल यूनिवर्सिटी के बाहर जम्मू-कश्मीर के छात्रों पर उस समय हमला हुआ जब वो जुमे की नमाज अदा करने जा रहे थे। इस मामले में कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती खुद संदेह की जद में आ गई हैं। दरअसल, उन्होंने इस घटना की सूचना प्राप्त होने से 12 मिनट पहले ही आक्रोश जता दिया। सवाल यह है कि क्या उन्हे पहले ही पता चल गया था कि हरियाणा में कश्मीरी छात्रों पर हमला हो गया है। 

क्या है घटनाक्रम
हरियाणा की सेंट्रल यूनिवर्सिटी के एक छात्र जावेद इकबाल जगल ने ट्विटर पर अपने फोटो पोस्ट करते हुए बताया कि उस पर कुछ अज्ञात लोगों ने उस समय हमला किया जब वो जुमे की नमाज पढ़ने जा रहा था। हरियाणा पुलिस ने उसकी मदद की और हमलावरों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया। इसके बाद पलक झपकते ही यह मामला सुर्खियों आ गया। कुछ इस तरह से हायतौबा मचाई जाने लगी मानो देश की कानून और व्यवस्था की स्थिति ही खराब हो गई है। सीएम महबूबा मुफ्ती और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के साथ जम्मू कश्मीर पुलिस ने भी इस घटना पर आक्रोश जताया है। 

सीएम महबूबा मुफ्ती पर सवाल क्यों
दरअसल, पीड़ित छात्र जावेद इकबाल ने अपने ट्विटर हैंडल @iam_javid से 10:31 PM - Feb 2, 2018 को इस हमले की जानकारी दी। इसी ट्वीट में जावेद ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, केंद्रीय गृह मंत्रालय, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जम्मू-कश्मीर पुलिस को भी टैग किया लेकिन महबूबा मुफ्ती मुफ्ती ने इस घटना पर गुस्सा जताने वाला ट्वीट अपने आधिकारिक हैंडल @MehboobaMufti से 10:19 PM - Feb 2, 2018 को ही कर दिया। यानि हमले की सूचना प्राप्त होने से 12 मिनट पहले। 

पुलिस की अतिरिक्त संवेदनशीलता
मजेदार बात तो यह है कि हमले की सूचना के मात्र 13 मिनट बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ऐलान कर दिया है कि वो मामले को संवेदनशीलता के साथ देख रहे हैं। जो पुलिस जम्मू-कश्मीर में खराब मौसम में फंसे 12 साल के बीमार मासूम बच्चे की मदद करने नहीं गई वो हरियाणा में अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए कुछ ज्यादा ही संवेदनशील नजर आई। 


जैसे सूचना का इंतजार कर रहे थे उमर अब्दुल्ला
नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने घटना की सूचना के मात्र 16 मिनट बाद ही हैंडल @OmarAbdullah से 10:47 PM - Feb 2, 2018 ट्वीट कर इस घटना को भयावह बताया है। उन्होंने कहा कि लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो बात कही, यह घटना उसकी भावना के खिलाफ है। साथ ही अब्दुल्ला ने उम्मीद जताई कि हरियाणा प्रशासन इस हिंसा के खिलाफ जल्द कार्रवाई करेगा। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week