मप्र संविदा शिक्षक भर्ती: नए सत्र तक नहीं हो पाएंगी नियुक्तियां | EMPLOYMENT NEWS

Friday, January 19, 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश संविदा शाला शिक्षक भर्ती परीक्षा (MP SAMVIDA SHIKSHAK BHARTI EXAM 2018) अब ​बीरबल की खिचड़ी हो गई है जो 4 साल से अब तक पकी ही नहीं। शिवराज सिंह चौहान सरकार बार बार भर्ती (RECRUITMENT) प्रक्रिया को टालती जा रही है। कुछ दिनों पहले राज्य शिक्षा मंत्री दीपक जोशी ने कहा था कि जल्द ही तारीख घोषित कर दी जाएंगी और फरवरी तक परीक्षाएं आयोजित कर ली जाएंगी परंतु जनवरी खत्म होने को है, अब तक तारीख का ऐलान ही नहीं हुआ है। हालात यही रहे तो नए शिक्षा सत्र शुरू होने से पहले भर्तियां नहीं हो पाएंगी। बता दें कि मप्र में नया शैक्षणिक सत्र 1 अप्रैल 2018 से शुरू होना है। 

राज्य सरकार ने 2013 में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले प्रदेश में संविदा शाला शिक्षकों की भर्ती की घोषणा की थी। भर्ती नियम तैयार करते-करते चुनाव भी हो गए। इसके बाद से सरकार दो बार नियम जारी कर चुकी है। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) 3 बार परीक्षा की संभावित तारीखें घोषित कर चुका है, लेकिन भर्ती नहीं हो रही।

इस बीच शिक्षकों के रिक्त पद 22 हजार से बढ़कर 41 हजार तक पहुंच गए। आखिरकार वित्त विभाग की आपत्ति के बाद कैबिनेट को 9 हजार 560 पद कम करने पड़े। अब 31 हजार 645 पदों पर भर्ती होना है। जबकि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 41 हजार 218 शिक्षकों की कमी है।

75 हजार अतिथियों को साधने की कोशिश
सरकार 10 साल से सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे 75 हजार अतिथि शिक्षकों को खुश करने की कोशिश में लगी है। उन्हे बोनस अंक देने की घोषणा की गई थी परंतु अतिथि शिक्षकों ने इसे अस्वीकार कर दिया। अब सरकार के पास कोई नया रास्ता नहीं है। सीएम शिवराज सिंह ने पिछले दिनों 50 प्रतिशत महिला आरक्षण का ऐलान भी कर दिया है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week