मप्र के वारंटी मंत्री को गिरफ्तार कौन करेगा | MP NEWS

Friday, December 8, 2017

भोपाल। कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव हत्याकांड में भिंड जिला न्यायालय से गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट के मंत्री लाल सिंह ने सार्वजनिक मेल मुलाकात बंद कर दी है लेकिन पुलिस उनके भोपाल स्थित आधिकारिक आवास पर वारंट की तामील कराने के लिए आज तक नहीं आई है। यूं तो वारंटियों को धर पकड़ का अधिकार मप्र पुलिस के हर कर्मचारी को है परंतु जब मंत्री की बात आती है तो मामला एक दूसरे पर टाल दिया जा रहा है। 

आर्य को गिरफ्तार कर 19 दिसंबर के पहले अदालत में पेश किया जाना है। आर्य वर्तमान में भोपाल में हैं लेकिन पुलिस मुख्यालय वारंट तामील कराने में कोई रुचि नहीं ले रहा है। सारी जिम्मेदारी भिंड पुलिस के एक एसडीओपी पर डाल दी गई है। अदालत ने आदेश दिया है कि या तो भिंड एसपी स्वयं गिरफ्तार कर पेश करें या फिर डीएसपी स्तर के अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपे। पुलिस अफसरों ने गोहद एसडीओपी प्रवीण अष्ठाना को एसपी ने अदालत के आदेश की तामीली की जिम्मेदारी दी है।

एसडीओपी प्रवीण अष्ठाना वारंट की तामील के लिए भिंड की सीमाओं से बाहर नहीं निकल रहे हैं। अष्ठाना ने कहा है कि उन्होंने अभी स्थानीय पते पर वारंट की तामीली का प्रयास किया, लेकिन वे निवास पर नहीं मिले। मंत्री आर्य का कहना है कि वो कानून में मिले सभी अधिकारों का उपयोग करेंगे। वो दिग्गज वकीलों से बातचीत कर रहे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि पूरी भाजपा मंत्री के साथ है। शायद यही कारण है ​कि पुलिस वारंटी मंत्री को पकड़ने की कोशिश तक नहीं कर रही है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week