GAS GEYSER के कारण दुल्हन की शादी के चौथे दिन मौत | RAJASTHAN NEWS

Sunday, December 3, 2017

सुजानगढ़/चूरू। यहां शनिवार सुबह शनिवार सुबह एक न्यूली मैरिड महिला की शादी के चौथे दिन ही संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पोस्टमार्टम करने वाली मेडिकल टीम का मानना है कि बाथरूम में गैस गीजर के कारण दम घुटने से मौत हुई है। पुलिस का कहना है कि बाथरूम में वेंटिलेशन नहीं था। खिड़कियां कांच से बंद कर दी गईं थीं। रसोई गैस के रिसाव से आॅक्सीजन की कमी हो जाती है और दम घुटने लगता है। इसी के चलते यह मौत हुई। 

सालासर जाने की तैयारी में जुटे थे परिवारवाले
जानकारी के अनुसार किशनलाल गुर्जर के बेटे दीपक की 29 नवंबर को मैलूसर रतनगढ़ के रहने वाले सांवरमल गुर्जर की बेटी मनीषा के साथ शादी हुई थी। घर में शादी की खुशियां मनाई जा रही थी। शनिवार को परिवार के लोग न्यूली मैरिड कपल को धोक दिलाने के लिए सालासर ले जाने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान सुबह करीब 10 बजे मनीषा नहाने के लिए बाथरूम में गई और बेहोश हो गई। करीब आधा घंटे बाद भी वह बाहर नहीं आई तो घरवालों ने उसे संभाला। बाहर से आवाज लगाने पर भी मनीषा का कोई जवाब नहीं आया तो बाथरूम का दरवाजा तोड़ा गया। बेहोश मनीषा को तत्काल हॉस्पिटल लेकर गए, लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बेटी का शव देख बहोश हुए पिता
मामले की जानकारी मिलने पर हॉस्पिटल पहुंचे मनीषा के पिता सांवरमल बेटी का शव देखकर बेहोश हो गए। उन्हें भी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इसके बाद एक दिसंबर को वह पति के साथ मायके मेलूसर गई थी। वहां से उसी दिन रात को वह वापस ससुराल सुजानगढ़ आ गई थी। शनिवार सुबह ये हादसा हो गया। एसडीएम दीनदयाल बाकोलिया, तहसीलदार सुशील कुमार सैनी व एसएचओ दरजाराम हॉस्पिटल पहुंचे और पूरी घटना की जानकारी ली। पुलिस ने सरकारी हॉस्पिटल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया।

बता दें कि 29 नवंबर को शादी होने के बाद 30 नवंबर को मनीषा ने ससुराल में शादी की रश्में निभाई। इसके बाद एक दिसंबर को वह पति के साथ पीहर मेलूसर गई थी। वहां से उसी दिन रात को वह वापस ससुराल सुजानगढ़ गई थी। शनिवार सुबह ये हादसा हो गया।

एक दिन पहले हुई थी ननद की शादी
मनीषा की शादी के एक दिन पहले ही यानी 28 नवंबर को उसकी ननद चंचल की शादी भी सुजानगढ़ में की गई थी। दीपक की बहन चंचल की बारात लाडनूं से आई थी। परिवार में दीपक सहित दो भाई व एक बहन है। दीपक के पिता किशनलाल का करीब पांच-छह साल पूर्व निधन हो गया था। दीपक प्राईवेट कंपाउंडर की नौकरी करता है।

गैस गीजर की जहरीली गैस से मौत : एएसपी
एएसपी योगेंद्र फौजदार ने घटना स्थल का जांच किया। एएसपी फौजदार के अनुसार घटना स्थल को देखने पर प्राइमाफेसी ऐसा लगता है कि बाथरूम मेें गैस गीजर के कारण जहरीली गैस फैल गई और उससे दम घुटने पर महिला की मौत हो सकती है। उन्होंने बताया कि बाथरूम में वेंटिलेशन नहीं था। रोशनी के लिए जरूर कांच की खिड़की थी, लेकिन हवा के लिए खिड़की नहीं थी। बाथरूम बंद होने के बाद आॅक्सीजन की कमी हो जाती है और गैस गीजर के कारण जहरीली गैस बन जाती है। इसके कारण दम घुट जाता है और धीरे-धीरे बेहोशी आ जाती है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वास्तविकता सामने आएगी।

मेडिकल बोर्ड ने भी माना-दम घुटने से हुई मौत
सरकारी हॉस्पिटल में मेडिकल बोर्ड में शामिल तीन डॉक्टरों की टीम ने मनीषा के शव का पोस्टमार्टम किया। टीम में डाॅ. दिलीप सोनी, डाॅ. महेश वर्मा व डाॅ. महेश महला शामिल थे। मेडिकल बोर्ड का मानना है कि प्राइमाफेसी मनीषा की मौत दम घुटने से ही हुई है। फिलहाल विसरा वगैरह एफएसएल जांच के लिए जयपुर भिजवाए गए हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं