बेशर्म पुलिस: महिला SP मीडिया को हंस-हंस कर बता रहीं थीं गैंगरेप की डीटेल्स

Thursday, November 2, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पुलिस का बेहद बेशर्म चेहरा सामने आया है। आईएएस की तैयारी कर रही पुलिस अधिकारी की बेटी का सरेशाम किडनैप हुआ, 4 बदमाशों ने गैंगरेप किया और जानलेवा हमला भी हुआ परंतु पुलिस के माथे पर चिंता की लकीरें तो दूर की बात संजीदगी भी नहीं थी। एसपी रेलवे पुलिस अनीता मालवीय जो कि एक महिला भी हैं, मीडिया से इस घटना के बारे में हंस-हंस बात कर रहीं थीं। 

इस मुद्दे ने तो सिर में दर्द कर दिया है
जानकारी के अनुसार एसपी अनीता मालवीय (रेलवे पुलिस) ने गुरुवार को मीडिया को इस मामले की जानकारी दी। इस दौरान वे लगातार मुस्कुरा रही थीं, उनके रवैये से यह बिलकुल नहीं लग रहा था कि वे संवेदनशील मुद्दे को लेकर जरा भी गंभीर हैं। बातों ही बातों में उन्होंने मीडिया के सामने यह तक कह दिया कि, 'हमारे पास जब रिपोर्ट आई, हमने मामला दर्ज कर लिया। इस मुद्दे ने तो सिर में दर्द कर दिया है।

रेलवे पुलिया के नीचे हुआ गैंगरेप और मर्डर का प्रयास
एसपी रेलवे पुलिस, अनीता मालवीय ने बताया कि आरोपी कचरा बीनने का काम करते हैं। गुरुवार को जब पुलिस उनके पास पहुंची तो सभी पटरियों पर जुआ खेल रहे थे और नशे में थे। गैंगरेप के बाद एक आरोपी ने कहा था कि इसे छोड़ो मत मार दो, वरना सबको बता देगी। इस पर दूसरे ने कहा कि छोड़ दो, किसी को नहीं बता पाएगी, क्योंकि नाम तो जानती नहीं है। चारों आरोपी हबीबगंज स्टेशन के पास बनी झुग्गियों में रहते हैं। एक आरोपी पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

यह हुआ था घटनाक्रम 
गैंगरेप की ये घटना 31 अक्टूबर की है। हबीबगंज थाना क्षेत्र में आरपीएफ थाने के पास से 4 आरोपियों ने यूपीएससी की तैयारी कर रही छात्रा को अगवा किया गया। इसके बाद आरोपी छात्रा को लेकर आरपीएफ थाने के आगे रेलवे ट्रैक के पास झाड़ियों में ले गए, जहां चारों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। 

हत्या करना नहीं चाहते थे 4 में से 3 बलात्कारी
छात्रा के बयान के अनुसार, रेप के बाद एक आरोपी ने अपने दोस्तों से मुझे जान से मार डालने के लिए कहा था। लेकिन, अन्य तीन आरोपी राजी नहीं हुए और वो मुझे मौके पर ही छोड़कर चले गए। वारदात के बाद मैं काफी देर तक पुलिया के नीचे ही रही, होश संभालने के बाद मैं डरी-सहमी से घर गई और परिजनों को सारी वारदात बताई। पीड़ित छात्रा RPF सब इंस्पेक्टर की बेटी है और वह न्यू जीआरपी कॉलोनी में रहती है। वारदात वाले दिन छात्रा कोचिंग से घर लौट रही थी। इसी दौरान रेलवे ट्रैक के पास जुआ खेल रहे 4 नशेड़ी युवकों की नजर उस पर पड़ी।  लगभग शाम 7.30 बजे इन युवकों ने छात्रा को अगवा कर उसके साथ रेप किया। 

छात्रा की शिकायत पर हरकत में आई पुलिस ने चारों आरोपियों को तत्काल हिरासत में ले लिया। आरोपियों के नाम गोलू बिहारी, अमर छोटू, रमेश और राजेश हैं। पुलिस के मुताबिक चारों आरोपी नशे के आदी है और अक्सर रेलवे ट्रैक के पास बैठकर नशा करते हैं। चारों आरोपी कबाड़ी का काम करते हैं और उन पर अन्य कई मामले दर्ज है। 

मीडिया सूत्रों के अनुसार, छात्रा बेहोशी का हालत में जीआरपी थाना पहुंची थी लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट लिखने से इंकार कर दिया था। इस पर पीड़ित छात्रा हबीबगंज थाना पहुंची, जहां हबीबगंज थाने में जीरो पर प्रकरण दर्ज किया गया और केस डायरी जीआरपी हबीबगंज थाने को भेज दी गई। इनमें से मुख्य आरोपी गोलू बिहारी को पुलिस ने शाम को कोर्ट में पेश किया जहां से कोर्ट ने उसे 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं