शिवराज सिंह ने फिर कहा: GIRLS HOSTEL, धार्मिक स्थलों और SCHOOL के नजदीक शराब दुकानें बंद करेंगे

Monday, November 13, 2017

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर दोहराया है कि गर्ल्स हॉस्टल, धार्मिक स्थलों और स्कूलों के आसपास की शराब दुकानें बंद की जाएंगी। बता दें कि अपने पहले विधानसभा चुनावों के दौरान भी शिवराज सिंह ने यही कहा था। उन्होंने यह भी कहा था कि वो मप्र में एक भी नई शराब की दुकान नहीं खुलने देंगे और चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी करेंगे परंतु रिकॉर्ड बताते हैं कि शराब की बिक्री घटने के बजाए बढ़ती जा रही है। गर्ल्स हॉस्टल, धार्मिक स्थलों और स्कूलों के आसपास शराब की दुकानें सीना तानकर चलाई जा रहीं हैं। 

SCHOOL BUS में GPS और CCTV कैमरे ना मिलें तो मान्यता निरस्त कर दो
मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ महिला अपराधों पर नियंत्रण के संबंध में समीक्षा बैठक ले रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री बीपी सिंह और पुलिस महानिदेशक श्री आरके शुक्ला भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पिछले सप्ताह इस संबंध में ली गयी बैठक के निर्णयों के पालन में की गई कार्रवाई की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेज और लोक परिवहन की बसों में जी.पी.एस. सिस्टम और सी.सी.टी.व्ही. कैमरे लगाना अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जाये। इसका पालन नहीं करने वाली संस्थाओं की मान्यता निरस्त की जाये। महिला छात्रावासों के प्रवेश द्वार पर सी.सी.टी.व्ही.लगाना सुनिश्चित किया जाये। संवेदनशील स्थानों पर स्थित शराब की दुकानें चिन्हित कर उन्हें बंद कराया जाये। महिला अपराध के प्रकरणों में तुरंत चिकित्सा सहायता उपलब्ध करवाई जाये और चिकित्सकों में संवेदनशीलता के लिये स्वास्थ्य विभाग के अमले को प्रशिक्षित किया जाये।

प्रत्येक जिले में वन स्टाप सेंटर स्थापित होंगे
बैठक में बताया गया कि पुलिस विभाग द्वारा महिला अपराधों की रोकथाम के लिये महिलाओं से विशेष संपर्क कार्यक्रम के तहत स्कूलों-कॉलेजों में संपर्क किया जा रहा है। इसके तहत दो सप्ताह में करीब ढ़ाई लाख महिलाओं-युवतियों से संपर्क किया जायेगा। महिला अपराध तुरंत पंजीबद्ध हों, इसके लिये पुलिस के मैदानी अमले को अगले तीन माह में व्यापक प्रशिक्षण दिया जायेगा। वर्तमान में चल रहे इस तरह के प्रकरणों की समीक्षा कर त्वरित कार्रवाई की जायेगी। स्कूल बसों में महिला परिचालक की उपस्थिति अनिवार्य करने तथा चालकों के चरित्र सत्यापन के लिये परिवहन विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सभी स्कूलों में गुड टच-बेड टच के बारे में फिल्म दिखाकर बच्चों को जागरूक किया जायेगा। महिला अपराधों की आपातकालीन शिकायत के लिये 100 और 1090 हेल्प लाइन पर दर्ज प्रकरणों की लगातार समीक्षा की जायेगी। आगामी मार्च माह से पहले प्रत्येक जिले में वन स्टाप सेंटर स्थापित किये जायेंगे। संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। पोर्न साइट्स के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता लाने के लिये विशेषज्ञों द्वारा विशेष शिविर लगाकर स्कूलों में जानकारी दी जायेगी। इस संबंध में जारी निर्देशों की अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा हर सप्ताह मॉनिटरिंग की जायेगी।

बैठक में एडीजी इंटेलीजेंस श्री राजीव टंडन, एडीजी महिला अपराध श्रीमती अरूणा मोहन राव, प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास श्री जे.एन. कंसोटिया, प्रमुख सचिव परिवहन श्री एस.एन.मिश्रा, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन श्री मलय श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती दीप्ति गौड मुखर्जी, प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्रीमती गौरी सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस.के. मिश्रा, मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री आदर्श कटियार, आयुक्त महिला एवं बाल विकास श्रीमती जयश्री कियावत, आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री विवेक अग्रवाल और गृह सचिव श्री विवेक शर्मा भी उपस्थित थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week