सफाई के बावजूद फंस गए मंत्री जयंत सिन्हा, अब मोदी के रुख का इंतजार

Monday, November 6, 2017

नई दिल्ली। पैराडाइज पेपर्स मामले में पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के पुत्र व केंद्रीय विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा का नाम एवं सफाई सामने आने के बाद भाजपा में चुप्पी का माहौल है। अपनी ही सफाई में मंत्री जयंत सिन्हा फंस गए हैं। यह स्पष्ट हो या है कि चुनाव लड़ने और मंत्री बनने के पहले तक सिन्हा कंपनी में थे। फिर भी उन्होंने यह जानकारी छिपाई। यहां तक कि मंत्री बनने से पहले भी पीएमओ को कुछ नहीं बताया। उन्होंने सिर्फ यह सफाई दी कि मंत्री बनने के बाद वो कंपनी में नहीं हैं। इसका अर्थ यह भी है निकाला जा सकता है कि मंत्री बनने से पहले वो सारी जमावट कर चुके थे। पैराडाइज पेपर्स लीक ना होतो तो दुनिया को पता भी ना चलता। इस मामले में अब भाजपा समेत सारे देश को मोदी के रुख का इंतजार है। 

जयंत सिन्हा ने सफाई दी है कि जब वो राजनीतिक जीवन में आए, तब वो ओमेडियार के डायरेक्टर पद से इस्तीफा दे चुके थे लेकिन, इस तथ्य पर जयंत सिन्हा के पास कोई जवाब नहीं है कि जब उन्होंने चुनाव लड़ा तो उन्होंने ओमेडियार के डायरेक्टर पद पर रहने की बात क्यों नहीं बताई। इतना ही नहीं जब सिन्हा केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हुए तब भी उन्होंने लोकसभा सचिवालय या पीएमओ को ये बात नहीं बताई। ये तथ्य जयंत सिन्हा के खिलाफ जा सकता है और मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बन सकता है।

मामला सामने आने के बाद भी भाजपा खामोश
मोदी सरकार में केंद्रीय विमानन मंत्री जयंत सिन्हा का नाम पैराडाइज पेपर्स लीक में सामने आने के बाद से इस मसले पर भाजपा खामोश है। दस्तावेजों के अनुसार, जयंत सिन्हा मंत्री बनने से पहले और सांसद बनने के बाद तक ओमेडियार नेटवर्क के मैनेजिंग डायरेक्टर थे और इसी ओमेडियार नेटवर्क ने अमेरिकी कंपनी डी लाइट डिजाइन में एक बहुत बड़ा निवेश किया था। इसमें खास बात यह है कि डी लाइट डिजाइन ने टेक्स हेवेन केमैन आइलैंड में अपनी एक सब्सिडियरी कंपनी बनाई थी। जाहिर तौर पर ये सब कुछ टैक्स और काली कमाई बचाने के लिए की गई कवायद थी।

ओमेडियार में डायरेक्टर के पद पर थे जयंत
टेक्स हैवेन देशों में निवेश की पोल खोलने वाली लीगल फर्म ऐपलबी के मुताबिक, डी लाइड डिजाइन ने केमैन आइलैंड स्थित सब्सिडियरी कंपनी से 30 लाख अमेरिकी डॉलर का कर्ज लिया था। कर्ज 2012 में लिया गया और उस वक्त जयंत सिन्हा ओमेडियार के डायरेक्टर के पद पर नियुक्त थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week