अमित शाह के बेटे की कंपनी में अचानक 16,000 गुना की वृद्धि

Sunday, October 8, 2017

नई दिल्ली। अमित शाह का बेटा जय शाह और उनकी कंपनी टेम्पल एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड रातों रात सारी दुनिया की सुर्खियों में आ गई। खुलासा हुआ है कि लगातार 2 साल घोटे में चली कंपनी मोदी सरकार बनने के बाद अचानक इस कदर मुनाफे में आ गई कि कोई उम्मीद ही नहीं कर सकता। एक साल में कंपनी ने 16000 गुना की वृद्धि दर्ज कराई है। यह आंकड़ा वो है जो सरकारी रजिस्टरों में दर्ज कराया गया है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि कंपनी रजिस्ट्रार से मिली जानकारी से पता चला है कि टेम्पल एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड नामक एक कंपनी ने 2014-15 में सिर्फ 50,000 रुपये का कारोबार किया था, लेकिन अचानक एक साल में इस कंपनी के कारोबार में 16,000 गुना की वृद्धि देखी गई। इस कंपनी में जय शाह एक निदेशक हैं जो अमित शाह के बेटे हैं। 

आप ने साधा निशाना
आम आदमी पार्टी (आप) ने भी इसी तरह का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद अमित शाह के बेटे की किस्मत परवान चढ़ गई और वह खुद पार्टी प्रमुख बन गए। आप ने इस मामले की जांच कराने की मांग की है।

राहुल ने किया कटाक्ष
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा है कि नोटबंदी के लाभार्थी का पता आखिरकार चल गया है। राहुल ने एक ट्वीट में कहा, "हमें आखिरकार नोटबंदी का एकमात्र लाभार्थी मिल ही गया। यह आरबीआई, गरीब या किसान नहीं है। ये नोटबंदी के शाह-इन-शाह हैं। जय अमित।"

घाटे में जा रही थी कंपनी अचानक 80 करोड़ का फायदा हो गया
सिब्बल ने कहा कि टेम्पल एंटरप्राइजेज ने 2012 से 2013 और 2013 से 2014 तक क्रमश: 6,230 रुपये और 1,724 रुपये का घाटा दर्ज किया था। लेकिन 2014 से 15 के दौरान कंपनी ने 18,000 रुपये का लाभ दिखाया। यह बात उल्लेखनीय है कि अगले वर्ष 2015 से 16 के दौरान कंपनी का कारोबार 80 करोड़ रुपये हो गया। इस मामले पर समाचार वेबसाइट, 'द वायर' द्वारा रपट जारी करने के बाद कांग्रेस ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया था।

पीएम से जांच की मांग की
सिब्बल ने कहा कि कंपनी के भाग्य में बदलाव भाजपा के एक राज्यसभा सदस्य के एक रिश्तेदार के स्वामित्व वाली आईएफएस फाइनेंशियल सर्विसिस से बगैर किसी जमानत के 15.78 करोड़ रुपये का ऋण मिलने के बाद आया। उन्होंने कहा, "हम केवल प्रधानंमत्री से इस मामले में जांच के आदेश की मांग कर सकते हैं।"

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस खबर का खंडन करते हुए कहा है कि जय शाह का कारोबार पूरी तरह से वैद्य है और उसमें कुछ भी गैरकानूनी नहीं है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week