मप्र प्याज घोटाला: BPL में दर्ज गरीब 15 ट्रक प्याज खरीद ले गया

Thursday, September 7, 2017

खुलासाआनंद ताम्रकार/बालाघाट। यहां हुए प्याज खरीदी घोटाले का खुलासा हो गया है। सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के बाद जब पड़ताल की गई तो एक बड़ा मामला सामने आया। संदेह किया जा सकता है कि एक सिंडिकेट ने पूरा खेल रचा है जिसमें काले कारोबारियों के अलावा कालाधन कमाने वाले अधिकारी भी शामिल हैं। लिस्ट में कई नाम तो ऐसे हैं जिनका पता ही नहीं है। एक दैनिक वेतनभोगी मजदूर के नाम 2 ट्रक प्याज दर्ज की गई है जबकि एक ऐसे व्यक्ति के नाम 15 ट्रक प्याज खरीदना बताया गया है जो खुद बीपीएल सूची में दर्ज है। सवाल यह है कि मप्र के सूचीबद्ध गरीब के पास प्याज खरीदने के लिए 8 लाख रुपए कहां से आए और बड़ा सवाल यह है कि उसने 15 ट्रक प्याज का क्या किया होगा। जबकि वो तो सूचीबद्ध गरीब है। 

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार बालाघाट जिले में 22421 मीट्रिक टन प्याज नीलामी के लिये आयी थी। जिसमें सें 7034 मीट्रिक टन प्याज राशन दुकानों के माध्यम से तथा 13814 मीट्रिक टन प्याज व्यापारियों को नीलामी द्धारा विक्रय की गयी है। इसमें से 314.9 मीट्रिक टन खराब प्याज 20 पैसा प्रति किलो की दर से विक्रय की गयी तथा 692 मीट्रिक टन प्याज खराब हो जाने के कारण विनिष्टीकरण की कार्यवाही की गयी हैं। प्याज ​विनिष्टीकमण व्यय के पूर्ण देयक प्राप्त नही हुये है, परंतु 1 लाख 70 हजार रूपय अनुमानित व्यय आंका गया हैं। राशन दुकानोें के माध्यम से 2रू. प्रति किलो के माध्यम से प्याज बेची गयी हैं। तदाशय की जानकारी सूचना के अधिकार के तहत नागरिक आपूर्ति निगम बालाघाट के प्रभारी जिला प्रबंधक द्धारा दी गयी हैं। जानकारी में यह भी अवगत कराया गया कि दो रेल्वे रेक से आयी प्याज की नीलामीं भी की गयी। प्याज से भरी इस रेक को बालाघाट के सदन साव नें 4503092रू. में और राजेश सेवईवार नें 4400869रू. खरीदी हैं।

जिन व्यापारियों नें नीलामी में प्याज खरीदी हैं उनमें से कुछ तो सब्जी के व्यापारी है शेष अन्य का सब्जी अथवा प्याज से कोई लेना देना नहीं है। इतना ही नहीं शेख नूर नबी नामक व्यक्ति ने जो कि नगर पालिका परिषद वारासिवनी में दैनिक भोगी मजदूर के रूप में कार्यरत है, 2 ट्रक प्याज खरीदी है। जिसकी कीमत 203208 रू. बतायी गयी हैं।

शेख फकरू नामक सब्जी के दलाल ने जिसका नाम गरीबी रेखा में दर्ज है, 15 ट्रक प्याज जिसकी कीमत 7,97,607 रूपये बताई गई है नीलामी में खरीदी है। प्याज की नीलामी में 21 लोगों ने प्याज खरीदी है जिनमें से राजेश सेवाईवार ने 1 करोड 45 लाख 53 हजार 495 रूपये में सबसे अधिक प्याज खरीदी एवं सदन साव ने 49 लाख 6़6 हजार 750 रूपये की प्याज खरीदी।

मेंहदीवाड़ा स्थित लक्ष्मी राईस मिल ने 314.9 मैटिक टन प्याज भण्डारित किया जाना बताया गया है और समूची प्याज खराब हो जाने से उसे 20 पैसा प्रतिकिलो की दर से नीलामी में बेचा गया लेकिन इस संबंध में जो जानकारी हासिल हुई है उसके मुताबिक भण्डारित कि गई इस प्याज मे से आर.के.बैरागी ने 30 रूपये से लेकर 50 रूपये प्रति बोरी के हिसाब से बेच दिया। ज्यादातार प्याज इसी तरह बेची गई और प्याज को सड़ना बता दिया, वारासिवनी के 2 व्यापारियों ने लगभग 50 हजार रूपये की प्याज इसी तरह खरीदी है। आर के बैरागी ने भण्डारित प्याज की देखरेख और बिक्री के लिये अपने बेटे को तैनात कर रखा था। जिसकी देख रेख में प्याज की बोरियों की बिक्री की गई है।

वारासिवनी के शैलेन्द्र तिवारी के नाम से 8 ट्रक प्याज नीलामी में खरीदना बताया गया। नीलामी में प्याज खरीदने वाले कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनका नाम गरीबी रेखा की सूची मे दर्ज हैं फिर भी उन लोगो नें लाखो रू. की प्याज नीलामी में खरीदी। 

ग्राम मेहदींवाडा में स्थित कटरे राईस मिल में भंडारित की गयी प्याज 20 पैसा प्रति किलो की दर से कलेक्टर महोदय द्धारा गठित की गयी कमेटी ने नीलामी के द्धारा विक्रय की हैं। जानकारी में अवगत कराया गया हैं कि प्याज के खराब होने सें 20 पैसे प्रति किलो में ब्रिकी की गयी। 
यह अवगत कराया गया कि नीलामी की उक्त कार्यवाही प्रमुख सचिव खाद्य के पत्र क्र0 एफ-4-2ध्2017ध्29-1 भोपाल दिनांक 22.07.2017 के निर्देशानुसार की गयी।

प्याज की नीलामी में खरीददारों की सूचि पर नजर डालने के बाद ऐसा ज्ञात होता है कि एक सिंडिकेट बनाकर प्याज की नीलामी में खरीदी की गयी है। खरीददारों की सूचि में कुछ नाम ऐसे भी बताया गये है जिनका कोई अतापता ही नही है।

प्याज के खरीददारों की सूची आयकर विभाग की विजिलेंस शाखा को भेजकर प्याज खरीदने में लगाई पूंजी के स्त्रोतो का पता चल जायेगा तभी नीलामी में की गयी धांधली पर से पर्दा उठ पायेगा। इस प्रकार नीलामी के माध्यम से 2 लाख 42 हजार 665 बोरो प्याज जिसका वजन 138133.39 किवंटल बताया गया हैं 3 करोड 514 रूपये में बेच दी गई। सरकारी खजाने को लाखो रूपयों की क्षति पहुंची, और अधिकरी खरीददार मालामाल हो गये। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week