आजम खान का बेटा जाली दस्तावेज पेश कर विधायक बन गया: ALLEGATION

Thursday, August 3, 2017

लखनऊ। अक्सर विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में आने वाले सपा नेता आजम खान के बेटे बेटे मुहम्मद अबदुल्ला आजम खां पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया है। बताया गया कि उन्होंने जाली दस्तावेज पेश करके विधानसभा चुनाव लड़ा और विधायक बन गए। विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए न्यूनतम आयु 25 वर्ष होना अनिवार्य है जबकि आजम खान के बेटे की उम्र उस समय 24 वर्ष थी। इसलिए उसने नगरनिगम ने जाली जन्मप्रमाण पत्र जारी करवाया और उसी के आधार पर नया पैनकार्ड भी बनवा लिया। शिकायतकर्ता आकाश सक्सेना ने प्रेस के सामने दोनों पैनकार्ड पेश किए हैं। आजम खान के बेटे ने चुनाव में शिकायतकर्ता के पिता एवं भाजपा सरकार में दो बार मंत्री और चार बार विधायक रहे शिव बहादुर सक्सेना को हराया था। अब अबदुल्ला को अयोग्य घोषित करने की मांग की गई है। 

प्रेस क्लब में आज आकाश ने पत्रकारों को बताया कि आजम खां ने अपने पुत्र को विधायक बनाने के लिए उसकी उम्र छिपाई, जालसाजी व धोखाधड़ी कर उसके दो पैन कार्ड बनवाए और विधानसभा चुनाव के नामांकन में झूठा शपथ पत्र दिया। भारतीय उद्योग परिसंघ, रामपुर के अध्यक्ष और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता आकाश ने इस बाबत मुख्य निर्वाचन अधिकारी को दिए शिकायत पत्र के साथ अबदुल्ला के नामांकन के शपथ पत्र, बैैंक पासबुक, दोनों पैन कार्ड के ई-टैक्स चालान, दोनों पैन कार्ड और हाईस्कूल की मार्कशीट की फोटोकॉपी के अलावा लखनऊ नगर निगम द्वारा जारी गलत जन्म प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी भी पत्रकारों के बीच बांटी। आकाश ने अपने पिता शिव बहादुर सिंह को विधानसभा चुनाव में हराने के लिए आजम और अबदुल्लाह द्वारा गलत तरीके इस्तेमाल करने का भी आरोप लगाया। 

यह था मामला 
आकाश सक्सेना बताते हैं कि अबदुल्ला का पहला पैन कार्ड (डीएफओपीके6164के) 30 अगस्त, 2013 को बना था, जिसमें उनकी जन्मतिथि एक जनवरी, 1993 दर्ज कराई गई थी। अबदुल्ला की हाईस्कूल की सीबीएसई की मार्कशीट (रोल नंबर-5260139) में भी यही जन्मतिथि दर्ज है। इस लिहाज से अबदुल्ला की 25 साल की उम्र एक जनवरी, 2018 को पूरी होनी थी, जबकि आजम ने उन्हें 2017 के विधानसभा चुनाव में उतारने का मन बनाया। इस चुनाव के समय वास्तव में अबदुल्ला की उम्र 24 साल थी, जो कि चुनाव लडऩे के लिए कम थी। इसीलिए 24 मार्च, 2015 को अबदुल्ला का एक और पैन कार्ड (डीडब्ल्यूएपीके7513आर) बनवाया गया और इसमें उनकी जन्मतिथि 30 सितंबर, 1990 दर्ज करा दी गई। इस जन्मतिथि को तर्कसंगत बनाने के लिए 21 जनवरी, 2015 को लखनऊ नगर निगम से एक जाली जन्म प्रमाणपत्र बनवाया गया। नई जन्म तिथि के लिहाज से 2017 के विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होते समय अबदुल्ला की उम्र 26 साल हो गई। 

हाथ से चढ़ाई सूचना
बैंक पासबुक हो या नामांकन का शपथ पत्र, दोनों में बाकी सारी जानकारी टाइप की हुई है, जबकि 26 साल उम्र बताने वाले पैन कार्ड की सूचना हाथ से दर्ज की गई है। शपथ पत्र में जिस बैंक खाते को नए पैन कार्ड से लिंक बताया गया है, वह वास्तव में पुराने पैन कार्ड से लिंक है। इसी तरह जो आयकर रिटर्न नए पैन कार्ड पर भरे गए दिखाए गए, वह असल में पुराने पैन कार्ड पर दाखिल किए गए थे।  

आजम के पास काला धन
आकाश सक्सेना ने दो पैन कार्ड बनवाने को लेकर आजम खां के पास काला धन होने की आशंका जताई है। विदेश से रुपये आने के आजम के पूर्व में दिए गए बयान को दोहराते हुए आकाश ने आजम के आतंकवादियों से भी संबंध होने की आशंका जताई है।

हाईकोर्ट में चल रहा मामला
आकाश ने अबदुल्ला की मार्कशीट को आधार बनाते हुए उम्र छिपाने का मामला अपने साथी के जरिये पहले ही दर्ज कराया हुआ है, जिसकी सुनवाई हाईकोर्ट में चल रही है। उन्होंने कहा कि दो पैन कार्ड बनवाए जाने की नई जानकारी भी कोर्ट के सामने रखी जाएगी। आकाश ने पैन कार्ड मामले में पिता-पुत्र दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी व जालसाजी का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की है। आकाश ने आजम के खिलाफ सेना के खिलाफ अपशब्द कहने और भावनाएं आहत करने का मामला भी दर्ज कराया है। उन्होंने दावा किया कि जौहर विश्वविद्यालय से जुड़ी गड़बडिय़ां भी वह जल्द सामने लाएंगे। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week