शर्म आती है इन नेताओं का अध्यक्ष होने पर: नंदकुमार सिंह ने मंत्री विश्वास सारंग की उपस्थिति में कहा

Sunday, August 13, 2017

शैलेन्द्र गुप्ता/भोपाल। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने भरे मंच पर मप्र के सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग को बिफल मंत्री करार दे दिया है। पहली बार उन्होंने खुलकर कहा कि कोऑपरेटिव और अंतिम व्यक्ति (गरीब) के बीच कुछ ऐसे व्यक्ति खड़े हैं, जिन्होंने पूरे सिस्टम को ही भ्रष्ट कर दिया है। उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन मंच पर सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग की उपस्थिति में यहां तक कह डाला कि 'शर्म आती है इन नेताओं का अध्यक्ष होने पर।' नंदूभैया ने अपनी लाचारी भी जाहिर की 'लेकिन हम एेसे लोगों को कुछ नहीं कर सकते क्योंकि वे पार्टी में हैं।' इसके अलावा उन्होंने ऐसे भ्रष्ट नेताओं को बद्दुआ भी दी 'मैंने ऐसे व्यक्तियों को मरते देखा है, जिनकी मौत के बाद कीड़े पड़ते हैं।'

काेऑपरेटिव में व्याप्त भ्रष्टाचार पर शनिवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने हमला बोलते हुए कहा कि समाज के अंतिम व्यक्ति के उत्थान के लिए पंडित दीनदयाल की अंत्योदय की अवधारणा भी फेल हो रही है। कोऑपरेटिव और अंतिम व्यक्ति (गरीब) के बीच कुछ ऐसे व्यक्ति खड़े हैं, जिन्होंने पूरे सिस्टम को ही भ्रष्ट कर दिया है। 

उन्होंने कहा कि कोऑपरेटिव और अंतिम व्यक्ति के बीच खड़े व्यक्ति कोई और नहीं, बल्कि पार्टी के लोग ही हैं। मैंने ऐसे व्यक्तियों को मरते देखा है, जिनकी मौत के बाद कीड़े पड़ते हैं। लेकिन हम एेसे लोगों को कुछ नहीं कर सकते क्योंकि वे पार्टी में हैं। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि ऐसे लोगों को यह अंतिम मौका है। नहीं सुधरे तो हश्र अच्छा नहीं होगा।

लोन ले रखा है, इंतजार कर रहे हैं कि सरकार माफ कर दे
चौहान ने कहा- पार्टी में मौजूद लोगों ने बैंकों से लोन लिया हुआ है। उसे जमा करने के बजाए यह रास्ता देख रहे हैं कि सरकार उनके लोन को माफ कर दे। ऐसे लोग जेल जाएंगे तो उन्हें रोने वाला भी कोई नहीं मिलेगा।

शर्म आती है इन नेताओं का अध्यक्ष होने पर
नंदकुमार यहीं नहीं रुके। कहा- 1 रुपए प्रति किलो में गरीबों को दिए जाने वाले अनाज में भी घोटाला हो रहा है। यह सब देखकर दीनदयाल जी और श्यामाप्रसाद मुखर्जी की आत्मा रो रही होगी। शर्म आती है ऐसे सहकारी नेताओं का अध्यक्ष होने पर। ऐसे नेता पार्टी छोड़कर चले जाएं।

सहकारिता में हुए कुछ घोटाले
पिछले साल पीडीएस के गेहूं में मिट्टी के ढेले मिले। वेयर हाउस में हुआ फर्जीवाड़ा।
प्याज खरीदी में 500 करोड़ का घोटाला।
मंदसौर जिला सहकारी बैंक में 12 करोड़ के लोन अध्यक्ष ने परिजनों के नाम पर बांटे।
बीते वर्ष जिला सहकारी बैंकों में 80 करोड़ के घोटाले सामने आए।

मंत्री विश्वास सारंग का फेलियर
नंदकुमार सिंह के इस बयान ने सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग को फेलियर प्रमाणित कर दिया है। सारंग ने जुलाई 2016 में सहकारिता राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार का पदभार ग्रहण किया था। विरासत में उन्हे कई घोटालों की फाइलें भी मिलीं थीं। माना जा रहा था कि सारंग इस दिशा में तेजी से काम करेंगे और घोटालेबाजों पर सारंग की गाज गिरती दिखाई देगी परंतु एक साल बाद अगस्त 2017 में नंदकुमार सिंह चौहान का यह बयान प्रमाणित करता है कि विश्वास सारंग ने अपने 1 साल में कार्यकाल में सहकारिता की स्थिति बेहतर करने के बजाए और बद्तर कर दी है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं