क्यों नहीं बन पायी अक्षय की फिल्म हेराफेरी-3

Monday, August 28, 2017

'रंगीला', 'विरासत', 'हेराफेरी', 'गोलमाल', 'दौड़' और 'खिलाड़ी 420' जैसी फिल्‍मों में नजर आने वाले कॉमेडी एक्‍टर नीरज वोरा गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं. वे पिछले 10 महीने से कोमा में हैं. नीरज हेराफेरी 3 पर काम कर रहे थे, लेकिन बीमारी के चलते इसमें रुकावट आ गई. दरअसल, जब नीरज को अक्टूबर में ब्रेन स्ट्रोक आया तब वह फिल्म 'हेरा फेरी 3' पर काम कर रहे थे. इस फिल्म को फिरोज ही प्रड्यूस करने वाले थे. यहां तक की फिल्म की स्क्रिप्ट भी फाइनल हो गई थी और दिसंबर 2016 से इसकी शूटिंग शुरू की जानी थी. 

बताया जा रहा है कि नीरज पैसों की तंगी से भी जूझ रहे हैं. नीरज वोरा 19 अक्टूबर, 2016 को ब्रेन स्ट्रोक के शिकार हुए थे. इसके बाद उन्‍हें दिल्ली स्थित एम्स में एडमिट कराया गया था. उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. बाद में हालत में कुछ सुधार के बाद उनके दोस्त फिरोज नाडियाडवाला मार्च, 2017 में उन्हें मुंबई वापस लाए. उसी समय से नीरज अपने दोस्‍त के यहां रह रहे हैं. फिल्म इंडस्ट्री में भी आमिर खान और परेश रावल नीरज के काफी अच्छे दोस्तों में शामिल हैं. यह दोनों नीरज को देखने हॉस्पिटल भी गए थे और लगातार उनकी सेहत के बारे में जानकारी लेते रहते हैं.   

दरअसल, नीरज के परिवार में उनके अलावा और कोई नहीं है. नीरज की पत्नी की पहले ही मौत हो गई है और उनकी कोई संतान भी नहीं है. उनकी फैमिली में सिर्फ उनकी मां थीं. 2014 में उनकी मां की भी मृत्यू हो गई थी बताया जा रहा है कि उनके दोस्त फिरोज नाडियाडवाला उनकी सारी जिम्‍मेदारी उठा रहे हैं. फिरोज ने जुहू स्थित अपने घर 'बरकत विला' के एक कमरे को आईसीयू में बदल दिया है. फिरोज के अनुसार, मार्च 2017 से ही 24 घंटे एक नर्स, वॉर्ड ब्वॉय और कुक नीरज के साथ रहता है. इसके अलावा फिजियोथेरेपिस्ट, न्यूरो सर्जन, एक्यूपंक्चर थेरेपिस्ट और जनरल फिजिशियन हर हफ्ते विजिट पर आते हैं. नीरज का पूरा ख्‍याल रखा जा रहा है.

एक खबर के अनुसार फिलहाल वह जिस कमरे में रहते हैं उसे उनकी फेमस फिल्मों 'रंगीला', 'विरासत', 'हेराफेरी', 'गोलमाल', 'दौड़' और 'खिलाड़ी 420' के पोस्टर्स से सजाया गया है. कमरे में टीवी भी लगा हुआ है जिसमें उनकी फेवरेट फिल्मों को दिखाया जाता है, ताकि वह जल्द से जल्द कोमा से बाहर आ सकें. 

बता दें कि नीरज ने फिर हेराफेरी, खिलाड़ी 420 जैसी फिल्‍म निर्देशित की है. वे थिएटर में भी सक्रिय हैं. वे गुजराती प्‍ले आफ्टरनून कर चुके हैं. इसके अलावा नीरज वोरा राइटर भी हैं. उन्‍होंने रंगीला, अकेले हम अकेले तुम, ताल, जोश, बदमाश, चोरी चोरी चुपके चुपके, अवारा पागल दीवाना जैसी फिल्‍मों के संवाद लिखे हैं.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week