कर्मश्री: भक्ति की मस्ती में चूर कांवड़िएं पहुंचे बरखेड़ा

Saturday, July 29, 2017

बरखेड़ा/औबेदुल्लागंज/भोपाल। शनिवार को होशंगाबाद से बरखेड़ा तक राष्ट्रीय राजमार्ग पूरी तरह से भगवा रंग में रंगा नजर आया। सुबह 9 बजे होशंगाबाद से ‘कर्मश्री’ की कांवड़यात्रा रवाना होने के बाद से सांय 6 बजे कांवड़ियों के बरखेड़ा-उमरिया पहुंचने तक राजमार्ग पर हर ओर भगवा वेश धारी कांवड़ियों का रेला ही दिखाई दिया। इस दिन सुबह होशंगाबाद के प्रसिद्ध सेठानी घाट से नर्मदा जल कांवड़ में भरकर भोपाल की ओर रवाना हुई ‘‘कर्मश्री’’ की 10 वीं कांवड़यात्रा सांय 6 बजे बरखेड़ा पहुंच गई है। यहां कांवड़यात्रा का पहला पड़ाव है। कांवड़ियों के रूकने की व्यवस्था बरखेड़ा स्कूल एवं उमरिया गुरूद्वारे में की गई है। 

इस बार की कांवड़यात्रा में आठ हजार से अधिक कांवड़िए शामिल हैं। होशंगाबाद से बरखेड़ा तक के यात्रा मार्ग में यात्रा के संयोजक हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा सहित सभी कांवड़ियों का जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया। होशंगाबाद में सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, सलकनपुर ट्रस्ट के अध्यक्ष महेश उपाध्याय, पूर्व नपाध्यक्ष माया नरोलिया, हंस राय,विकास नरोलिया, गोलू तिवारी, जीतू तिवारी, आलोक थापक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों-नागरिकों ने राह में पड़ने वाले सभी चैक-चैराहों पर कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। कांवड़यात्रा के सामने श्री शर्मा के साथ दो कांवड़िए राष्ट्रध्वज तिरंगा हाथ में लिए चल रहे हैं, जबकि एक कांवड़यात्री के हाथ में नर्मदासेवा यात्रा का ध्वज है। बाकि सभी हजारों कांवड़िए कांधे पर आस्था की कांवड़ उठाए साथ-साथ कदम ताल करते हुए आगे बढ़ रहें हैं। यात्रा में शामिल सभी कांवड़िए भोले की मस्ती में इस कदर चूर हैं कि यात्रा मार्ग में वे भोले के भजनों पर झूमते हुए चल रहे हैं। ‘‘कर्मश्री’’ के राम बसंल, राकेश भदौरिया, सहित अन्य पदाधिकारी कांवड़ियों की व्यवस्था का कार्य संभाले हुए हैं। गौरतलब है कि यह यात्रा तीन दिनों में 111 किमी चलकर श्रावण सोमवार 31 जुलाई को भोपाल पहुंचेगी। जहां कांवड़िए लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में भगवान के आशुतोष स्वरूप का जलाभिषेक करेंगे। 

कल (रविवार) औबेदुल्लागंज, मंडीदीप पहुंचेगी कांवड़यात्रा
शनिवार सुबह होशगांबाद से शुरू हुई ‘‘कर्मश्री’’ की प्रसिद्ध कांवड़यात्रा रविवार सुबह 11 बजे ओबेदुल्लागंज और सांय 5 बजे मंडीदीप पहुंचेगी। यात्रा सुबह 8 बजे अपने पहले पड़ाव बरखेड़ा से शुरू होगी। उमरिया गुरूद्वारे में कांवडयात्री मत्था टेकेंगे, जहां कांवड़यात्रा का गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से स्वागत किया जाएगा। इसके बाद कांवड़िए ओबेदुल्लागंज पहुंचेगे जहां स्वागत उपरांत कांवड़ियों के दोपहर भोजन की व्यवस्था की गई है। सांय मंडीदीप पहुंचने पर कांवड़ियों का दूसरा पड़ाव होगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week