शिक्षा मंत्री विजय शाह ने विधानसभा में दिया झूठा जवाब: एक भी शिक्षक अटैच नहीं है

Tuesday, July 25, 2017

राजेश शर्मा/राजगढ़। खिलचीपुर के भाजपा विधायक हजारीलाल दांगी ने शुक्रवार को विधानसभा में सवाल किया था कि राजगढ़ जिले में कितने शिक्षकों का अटैचमेंट खत्म कर उन्हें मूल संस्थाओं में वापस भेजा गया। विधायक के सवाल पर शिक्षा मंत्री विजय शाह का जवाब था जिले में एक भी शिक्षक अटैच नहीं है लेकिन शिक्षा मंत्री का यह जवाब जिले में अचैटमेंट के मामलों को देखें तो उससे इत्तफाक नहीं रखता है। अभी भी अधिकांश शिक्षक बीएलओ का काम कर रहे हैं तो कई शिक्षक दफ्तरों में अटैच हैं। 

शिक्षा मंत्री के जवाब के बाद विधायक दांगी भी कह रहे हैं कि विभाग सदन को गलत जानकारी दे रहा है। वह कहते हैं जिले में 800 शिक्षकों से बीएलओ का काम कराया जा रहा है। ब्यावरा में ही ऐसे 273 शिक्षक हैं। शिक्षकों से बीएलओ का काम कराना भी गलत है। इधर डीईओ सदन को गलत जानकारी देने के संबंध में अजीब सफाई दे रहे हैं, उनका कहना है कि जिस दिन विधानसभा को जानकारी भेजी गई थी उस दिन एक भी अटैचमेंट नहीं थे। वह यह भी कहते हैं बाढ़, चुनाव को लेकर शिक्षक खुद ही अटैचमेंट कर लेते हैं। अगर कहीं है तो मेरी जानकारी में नहीं है।

खिलचीपुर के भाजपा विधायक हजारीलाल दांगी द्वारा 21 जुलाई को क्रमांक संख्या 1010 पर प्रश्न लगाया गया था। प्रश्न क्रमांक 15 के माध्यम से विधानसभा में प्रश्न किया था कि मंत्री महोदय बताया जाए कि हाल ही में मप्र शासन द्वारा गैर शैक्षणिक कार्यों में संलग्न शिक्षकों को उनकी मूल संस्थाओं में वापस किए जाने के निर्देश जारी किए थे। यदि हां तो राजगढ़ जिले में किन-किन शिक्षकों को उनकी मूल संस्थाओं में वापस किया। तथा नहीं किया तो किन क्यों...।स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने उनके प्रश्न का जवाब लिखित में देते हुए कहा कि राजगढ़ जिले में एक भी अटैचमेंट नहीं है।सभी शिक्षक अपनी मूल संस्थाओं मे ंही कार्यरत हैं। केवल एक अटैचमेंट अनीसा बेगम का है जो राष्ट्रीय आजीविका मिशन में है, लेकिन उन्हें कोर्ट से स्टे मिला है। उनका मामला कोर्ट में चलने के कारण वह लंबित है।

विधायक दांगी ने कहा सदन में चर्चा होती तो बताता आखिर सच क्या है
अटैचमेंट को लेकर सदन के माध्यम से चाही गई जानकारी से खिलचीपुर विधायक हजारीलाल दांगी सहमत नहीं है। उनका कहना है कि सदन में भी विभाग गलत जानकारियां दे रहा है। कई ऐसे शिक्षक हैं जो अटैच हैं और मेरे पास उनकी पूरी जानकारी भी है। मेरा प्रश्न 15 वें नंबर पर था और चर्चा 11 नंबर पर आकर रह गई। यदि चर्चा मेरे प्रश्न तक आ जाती तो मैं सदन को बताता कि आखिर सच क्या है। मेरे पास प्रमाण हैं कौन कहां अटैच है। कम से कम चार शिक्षक तो मेरे विस क्षेत्र में ही अटैच हैं। मैं मय प्रमाण के सदन के सामने रखता कि साहब ! जो जानकारी शिक्षा विभाग सदन के माध्यम से दे रहा है वह गलत है। कौन कहां अटैच है यह पूरा डाटा में सदन के समक्ष मौके पर ही रखता लेकिन दुर्भाग्य से चर्चा 11 नंबर पर आकर ही रूक गई। फिर भी कोई बात नहीं मैं इस जवाब से संतुष्ट नहीं हूं। मंत्रीजी ने बुलाया है उनसे प्रमाण सहित जाकर बात करूंगा। कई शिक्षकों को बीएलओ बना रखा, जबकि कई को गलत तरीके से प्रतिनियुक्ति दे रखी है। आने वाले समय में फिर से इस मामले को लेकर विधानसभा लगाउंगा।

यह टीचर है अटैचमेंट पर
जानकारी के मुताबिक राजगढ़ जिले में जो शिक्षक अटैचमेंट पर चल रहे हैं उनमें खिलचीपुर विस क्षेत्र में उमेश कतरोलिया ब्राहम्णगांव हाई स्कूल में पदस्थ है, जबकि राजगढ़ उत्कृष्ट स्कूल में अटैच है। रमाकांत दुबे एक स्कूल में पदस्थ होकर खिलचीपुर तहसील कार्यालय निर्वाचन में अटैच हैं। ब्यावरा ब्लाक में एमएल मीना आगर मावि से तहसील कार्यालय, विक्रम चंद्रवंशी गीन्दौरहाट संकुल से तहसील कार्यालय, सोना अवस्थी बारवां स्कूल से तहसील इन्होंने हालांकि अभी तहसील में ज्वाइन नहीं किया। राजगढ़ में मनोहर चौरसिया डीईओ कार्यालय, कमल सोनी मदापुरा स्कूल से डीईओ कार्यालय, अतुल तिवारी जिला पुस्तकालय में अटैच, नरेन्द्र जाधव करा़िड़या से बालक हायर सैकेण्डरी राजगढ़, जगन्नाथ कुंभकार झंझाडपुर से बालक हायर सैकेण्डरी राजगढ़ में अटैच हैं।

हस्ताक्षर स्कूल में, काम कर रहे निर्वाचन का
राजगढ़ में अनेक शिक्षक ऐसे हैं जो हस्ताक्षर तो स्कूल में कर रहे हैं, लेकिन काम निर्वाचन शाखा में कर रहे हैं। राजगढ़ निर्वाचन शाखा में ऐसा काम करने वाले शिक्षकों की संख्या करीब आधा दर्जन हैं। कुछ टीचर सुबह स्कूल जाते हैं, लेकिन दोपहर 2 बजे बाद निर्वाचन शाखा पहुंचकर काम करते हैं।

टीचरों को बना रखा BLO
जिले में शिक्षक-शिक्षिकाओं को निर्वाचन के लिए प्रशासन ने जो बीएलओ का काम दे रखा है उसको लेकर भी विधायक श्री दांगी का कहना है कि यह भी गलत है। जिले में करीब 800 टीचरों से बीएलओ का काम कराया जा रहा है। जिसमें से 273 अकेले ब्यावरा में हैं। इसके अलावा उन्होंने कुछ प्रतिनियुक्तियां भी गलत बताई हैं।

जब जानकारी भेजी तब नहीं थे
जिस दिन विस की जानकारी भेजी थी उस दिन अटैचमेंट नहीं थे। मैने सभी बीईओ, बीआरसी, एसडीएम से जानकारी लेकर भेजी है। यदि कहीं अभी है तो मेरी जानकारी में नहीं है। कई बार रेवेन्यू वाले बाढ़, निर्वाचन आदि को लेकर अटैचमेंट कर लेते हैं। मैं अटैचमेंट नहीं करता। यदि कहीं है तो मेरी जानकारी में नहीं है।
एसके मिश्रा, डीईओ राजगढ़

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week