GST को 2 साल के लिए टाल देना चाहिए, वरना...: सुब्रह्मण्यम स्वामी

Friday, June 2, 2017

नई दिल्ली। भाजपा सांसद सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने जीएसटी पर एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि इसे दो साल के लिए टाल देना चाहिए वरना मोदी सरकार के लिए यह वाटरलू साबित हो जाएगा। स्वामी ने जीएसटी को लेकर अपने विचार ट्वीटर पर साझा करते हुए इस संदर्भ में विश्व प्रसिद्ध उस वॉटरलू युद्ध का उदाहरण दिया जिसमें 'अजेय' माने जाने वाले फ्रांस के सम्राट नेपोलियन बोनोपार्ट को आखिरकार पराजित होना पड़ा था। 

उन्होंने कहा कि जीएसटी के बारे में एक महीने पहले ही उन्होंने प्रधानमंत्री को 16 पन्नों की चिट्ठी लिखी थी। इसमें अर्थव्यवस्था और सकल घरेलू उत्पाद दर में गिरावट के छह खतरनाक संकेतों का जिक्र किया था। उन्होंने कहा कि अभी भी उनका यही मानना है कि मौजूदा आर्थिक स्थितियों तथा पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा के उन सुझावों को ध्यान में रखते हुए, जिसमें उन्होंने कहा है कि जीएसटी को तुरंत स्वीकार करना मुश्किल होगा क्योंकि इसे लेकर उद्योगों की तैयारी पूरी नहीं हो पाई है और जरुरी नेटवर्क का सेवा प्रदाताओं की ओर से पूरा परीक्षण भी नहीं किया गया है, जीएसटी को जुलाई 2019 तक के लिए टाल दिया जाना चाहिए। 

वरना यह सरकार के लिए वाटरलू साबित हो जाएगा। जीएसटी के बारे में स्वामी की यह टिप्पणी जीडीपी के ताजे आंकड़ों के आलोक में आई है। इन आंकड़ों से ऐसा संकेत गया है कि नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था धीमी पड़ी है। परसों जारी किए गए जीडीपी आकंडों के अनुसार मार्च 2017 में समाप्त चौथी तिमाही के दौरान (जीडीपी) दर घटकर 6.1 फीसदी रह गई जबकि पिछले साल की समान तिमाही में यह सात फीसदी थी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं