CM शिवराज सिंह के अचानक शुरू हुए उपवास का हास्यास्पद अंत

Sunday, June 11, 2017

भोपाल। शनिवार को अचानक उपवास शुरू करने वाले सीएम शिवराज सिंह ने संड को बिना नतीजे पर पहुंचे उपवास तोड़ दिया। पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी ने तिलक लगाकर उन्हे उपवास पर बिठाया था और उन्ही ने नारियल-पानी पिलाकर उपवास तुड़वा दिया। शिवराज सिंह ने शांति स्थापना तक उपवास पर रहने का ऐलान किया था, मंदसौर में अभी भी हालात तनावपूर्ण हैं। उज्जैन में भक्तों को बाबा महाकाल के दर्शन तक नहीं मिल पा रहे हैं। भोपाल इंदौर हाइवे पर प्राइवेट वाहनों का यातायात बहाल नहीं हुआ है। और रतलाम व नीमच में स्थिति अब भी जस की तस है। 

इससे पहले राजधानी में शनिवार और रविवार की दरमियानी रात तेज बारिश के कारण उपवास स्थल पर कई जगह अव्यवस्थाएं भी फैल गईं। हालांकि प्रशासन ने बारिश की आशंका के चलते यहां वाटरप्रूफ पंडाल लगाया था, लेकिन इसके बाद भी कई जगह कीचड़ और जलभराव जैसे हालात पैदा हो गए।

शनिवार को सारा दिन सीएम शिवराज सिंह चौहान का उपवास ही देशभर की सुर्खियों में रहा। केवल राष्ट्रीय स्तर के नेताओं नहीं बल्कि विभिन्न प्रदेशों के मंत्रियों एवं दिग्गज नेताओं ने भी शिवराज सिंह के उपवास को लेकर प्रतिक्रियाएं दीं। सोशल मीडिया पर सीएम के उपवास का जमकर मखौल उड़ाया गया। कुल मिलाकर किसान आंदोलन के दौरान एक बार फिर शिवराज सिह और उनकी सरकार की चाल बिफल साबित हुई। 

बताते चलें कि आंदोलन में शामिल किसान संगठनों एवं नेताओं में से एक भी अब तक सीएम शिवराज सिंह चौहान से मिलने नहीं आया। सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग को सभी आंदोलनकारी नेताओं से समन्वय की जिम्मेदारी दी गई थी परंतु वो निभा ही नहीं पाए। इधर कांग्रेस ने उपवास का जवाब देने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया का 'सत्याग्रह' घोषित कर दिया है। उधर दिल्ली में किसानों की महापंचायत बुलाई गई है। आग बुझने के बजाए भड़क गई है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week