5 गांव के लोगों ने मिलकर किया हमला, पुलिस के सामने 3 युवकों को मार डाला, पथराव, आगजनी, उपद्रव

Friday, May 19, 2017

सरायकेला/झारखंड। राजनगर थाना क्षेत्र में 5 गांव के लोगों ने मिलकर शोभापुर गांव पर हमला बोल दिया। लोग यहां एक जायलो एवं इंडिका कार में फरार हुए कथित बदमाशों को तलाशने आए थे। रात 3 बजे से दोपहर 12:30 तक ग्रामीण एक एक घर की तलाशी लेते रहे। इस दौरान पुलिस भी आई लेकिन ग्रामीणों ने पथराव कर पुलिस को भगा दिया। अलग अलग ठिकानों पर ग्रामीणों को तीन युवक मिले। ग्रामीणों ने तीनों युवकों को पीट पीटकर मार डाला। यह सारा घटनाक्रम पुलिस की मौजूदगी में हुआ। 

गुरुवार सुबह तीन बजे के करीब हलदीपोखर की ओर से एक जायलो व इंडिका गाड़ी गोविंदपुर के रास्ते डांडू गांव होते हुए शोभापुर की ओर आ रही थी। कुछ लोगों ने डांडू गांव में गाड़ी रोकने की कोशिश की तो चालक ने रोकने के बजाए रफ्तार तेज कर दी। इससे लोगों को गड़बड़ी की आशंका हुई। गाड़ी का पीछा शुरू किया गया। जायलो गाड़ी भागने में सफल रही लेकिन इंडिका शोभापुर के मुर्तजा अंसारी के घर के बाहर खड़ी दिख गई। तब तक इलाके में बच्चा चोरों के आने की अफवाह फैल चुकी थी।

सुबह चार बजे पूरे क्षेत्र में जंगल की आग की तरह यह बात फैल गई। देखते ही देखते सैकड़ों लोग जुट गए। कमलपुर, गोपीनाथपुर, डांडू एवं आस-पास के लोग मुर्तजा के घर पहुंचे और बाहर से आए लोगों को लोगों को बाहर निकालने को कहा। जब मुर्ताजा ने कहा कि अंदर कोई नहीं है तब ग्रामीण भड़क उठे और जबरन अंदर घुसने की कोशिश की। तब तक थाना प्रभारी टीपी कुशवाहा दल बल के साथ शोभापुर पहुंचे।

ग्रामीणों को काफी समझाने का प्रयास किया परंतु लोग नहीं समझ रहे थे। थाना प्रभारी ने लोगों से दस मिनट का समय मांगा तब तक उत्तेजित लोगों ने थाना प्रभारी पर पथराव किया। साथ ही साथ इंडिका व थाना की गाड़ी को लोगों ने पेट्रोल छिड़क कर जला डला। पुलिस बल कम संख्या में थी। इस कारण पुलिस मामले की गंभारता को देखते हुए पीछे हटी और मामले को शांत करने की कोशिश की।

मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर अनुमंडलाधिकारी संदीप कुमार दुबे, एसडीपीओ दीपक कुमार पूरी जिला पुलिस टीम के साथ पहुंचे। फिर भी तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा था। आस-पास गांव के हजारों लोग शोभापुर गांव में तांडव मचाते रहे। बच्चा चोरों को खोजने के लिए एक समुदाय के घरों में घुसकर तोड़फोड़ की जाने लगी। सामानों को इधर-उधर फेंका जाने लगा। गांव के एक छोर पर खड़ी पुलिस स्थिति से निपटने की रणनीति बना ही रही थी कि करीब दिन के 11 बजे एक युवक को लोगों ने बोरे से ढके शौचालय से खोजकर निकाला और उस पर टूट पड़े।

युवक पर लाठी-डंडे बरसता देख पुलिस ने युवक को बचाने के लिए दौड़ लगाई। पुलिस को आता देख ग्रामीण भाग गये। पुलिस ने मौके से दौड़ाकर कुछ लोगों को गिरफ्तार किया। अस्पताल पहुंचाने के क्रम में रास्ते में ही गंभीर रूप से घायल युवक की मौत हो गयी। इसके बाद शोभापुर में मामला शांत हुआ। फिर एक डेढ़-घंटे बाद शोभापुर से उत्तर-पूर्व की ओर लगभग तीन किमी दूर सोसोमली गांव के खेत में अन्य दो लोगों को भी ग्रामीणों ने पीट-पीट कर मार डाला। पुलिस ने दोनों शवों को बरामद किया। इसके बाद डांडू डुंगरी में एक और लाश पुलिस ने बरामद की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week