ओपन माइंडेड WIFE का मर्डर करके खुद भी फांसी पर झूल गया

Tuesday, April 18, 2017

आगरा। ताजनगरी के जयपुर हाउस इलाके में सोमवार रात पति-पत्नी की लाश मिलने से हड़कंप मच गया। एक केमिस्ट ने पत्नी की हत्या करने के बाद खुद भी फांसी लगा ली। सुसाइड नोट भी मिला है। बताया जा रहा कि पत्नी के खुले विचार और ड्रेसिंग सेंस पर पति को ऑब्जेक्शन रहता था। इसी वजह से दोनों में अनबन रहती थी। पुलिस जांच में जुटी है।

सुसाइड नोट में लिखा: मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं
मामला आगरा शहर के लोहामंडी थाना क्षेत्र के जयपुर हाउस का है। यहां डॉक्टर वीके राजपाल का नर्सिंग होम है। इनके छोटे भाई सुनील राजपाल और पत्नी अंशू हॉस्पिटल के पहली मंजिल पर रहते थे। सोमवार रात करीब 8 बजे बेडरूम और बाथरूम में सुनील और उनकी पत्नी की लाश मिली। पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा है, ''मैंने अपनी वाइफ अंशू राजपाल का आज दिनांक 17 अप्रैल 2017 को सुबह 10:30 को मर्डर कर दिया है, जिसका जिम्मेदार मैं हूं। मैं खुद सुसाइड करने जा रहा हूं। इस जिंदगी से मैं तंग आ गया था। कोई भी इसका जिम्मेदार नहीं है। मैंने अपने बेडरूम में मर्डर किया है। लाश दूसरे कमरे में है। मैं अपने बेटे से बहुत प्यार करता हूं। डॉ. साहब इसका ध्यान रखिएगा। मैं आपका बहुत आभारी रहूंगा।''

पति को पसंद नहीं था पत्नी का ड्रेसिंग सेंस-खुले विचार
अंशू बुटीक चलाती थी, जहां उसके फ्रेंड भी आते थे। परिजनों की मानें तो वह ओपन माइंडेड थी और खुद अपनी जिंदगी जीना चाहती थी, लेकिन सुनील को ये सब पसंद नहीं था। वह चाहता था कि जैसा वह चाहता है, अंशू वैसे ही रहे। उसे अंशू के ड्रेसिंग सेंस पर भी ऑब्जेक्शन था। इसी वजह से दोनों में अक्सर लड़ाई होती थी।

ईंट से पत्नी के सिर पर वार करके उतारा मौत के घाट
सीओ लोहामंडी श्यामकांत यादव के मुताबिक, सोमवार सुबह दोनों के बीच विवाद हुआ। इस दौरान सुनील ने अंशू को बेल्ट से पीटा और आखिर में उसके सिर पर ईंट से वार कर दिया। लाश पर ईंट के तीन निशान मिले हैं। माना जा रहा है कि सुनील ने सिर पर तब तक वार किया, जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। इस दौरान सिर से लगातार खून बहने पर सुनील ने तकिए से उसे रोकने की कोशिश भी की। 

पत्‍नी के शव को ठिकाने लगाना चाहता था पति
सीओ के मुताबिक, सुबह 10 बजे पत्नी की हत्‍या के बाद सुनील ने कमरे में शराब पी। मौके से शराब की बोतल और ग्‍लास मिला है। उसका इरादा शव को ठिकाने लगाने का था। उसने तैयारी भी की। शव को ग‍ठरी की तरह चादर से लपेटा और बेड से नीचे उतारा। पुलिस को बेड पर खून की बूंदें और खून से सना तकिया मिला है। सुनील शायद रात होने का इंतजार कर रहा था, ताकि शव को आसानी से ठिकाने लगाया जा सके, लेकिन घर के नीचे मेडिकल स्‍टोर का कर्मचारी बार-बार दरवाजा खटखटाने आ जाता था। मेडिकल स्‍टोर पर दवा लेने वालों की भीड़ लगी थी। इसे सुनील ही संभालता था। इस बीच वो झूठ बोलता रहा कि वह बीमार है।

ये है सुसाइड करने की वजह!
पुलिस अनुमान लगा रही है कि सुनील को लगा कि वह रात को शव बाहर नहीं निकाल पाएगा, तब शाम 7 बजे सुसाइड का फैसला ले लिया। सुसाइड नोट लिखा और इसे जेब में रखकर फंदे पर लटक गया। बड़े भाई वीके राजपाल करीब 8 बजे सुनील के कमरे में गए। वहां भाई को फंदे पर लटकता देखा। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week