जिस शहर पर आजादी से आज तक था कब्जा, कांग्रेस वो भी हार गई | MAHARASHTRA

Friday, April 21, 2017

नई दिल्ली। उत्तर से लेकर दक्षिण तक कांग्रेस की हालत दिनोंदिन बद्तर होती जा रही है। कांग्रेस के लिए इससे बुरी और भाजपा के लिए इससे अच्छी खबर नहीं होगी कि महाराष्ट्र में तीन नगर निगमों चंद्रपुर, लातूर और परभनी में से दो पर भारतीय जनता पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की है, जबकि एक निगम कांग्रेस को मिला है। ये बीजेपी की सबसे बड़ी जीत इसलिए कही जा सकती है क्योंकि बीजेपी ने कांग्रेस से वो सीट छीनी है जिसपर आजादी के बाद से सिर्फ कांग्रेस का दबदबा रहा है।

आजादी के बाद से थी कांग्रेस
बीजेपी ने आजादी के बाद से लातूर में काबिज कांग्रेस को हरा दिया और बड़ी जीत हासिल की है। 70 सीटों वाली महानगरपालिका लातूर में 36 सीट बीजेपी के खाते में तो 33 सीट कांग्रेस को मिली हैं। खास बात ये है कि पिछली बार के चुनाव में बीजेपी को लातूर में एक भी सीट नहीं मिली थी। 

जीत का सेहरा फणनवीस के सिर
लातूर जीत का सेहरा सीएम देवेंद्र फणनवीस के सिर बंधा है क्योंकि उन्होंने यहां प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी थी। फणनवीस ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि अगर लातूर नगर निगम बीजेपी को मिलता है तो उसे सूखा मुक्त बना देंगे। 

चंद्रपुर में बीजेपी 
चंद्रपुर भाजपा के वरिष्ठ नेता और वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार का घरेलू क्षेत्र था। यहां भी बीजेपी ने जीत हासिल की है। चंद्रपुर में बीजेपी को 27, कांग्रेस को 11, एनसीपी को दो, शिवसेना को एक और अन्य को एक सीट मिली है। 

परभनी नगर निगम पर कांग्रेस का कब्जा 
वहीं परभनी नगर निगम पर कांग्रेस ने कब्जा किया है। यहां बीजेपी को जरूर एक सीट मिली है। वहीं कांग्रेस को पूरी 31 सीट मिली हैं। 65 सदस्यीय परभनी नगर निगम में मुख्य मुकाबला निवर्तमान राकांपा और शिवसेना के बीच माना जा रहा था लेकिन मैच कांग्रेस ने निकाल लिया। सत्तारूढ़ भाजपा ने इन चुनावों में पूरा जोर लगाया है क्योंकि वह इन तीनों नगर निगमों में से किसी में भी सत्ता में नहीं है और वह सत्ता हासिल करने में जुटी है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं