कांग्रेस सरकार बनी तो पहला आदेश अध्यापकों का शिक्षक विभाग में संविलियन: सिंधिया

Monday, April 10, 2017

शिवपुरी। शिक्षक समाज और देश को संस्कार प्रदान करते हैं इसलिए सरकारों का प्रथम दायित्व है कि वह शिक्षकों की समस्याओं का प्राथमिकता से निदान करे। उक्त उदगार पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कल ऋषि मैरिज गार्डन में अध्यापकों और शिक्षकों के होली मिलन समारोह में मुख्य अतिथि की हैसियत से कहे। 

श्री सिंधिया ने आश्वस्त किया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहला काम अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किया जाएगा। होली मिलन समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ कांग्रेस नेता बैजनाथ सिंह यादव ने की। जबकि विशिष्ठ अतिथि के रूप में जिला कांग्रेस अध्यक्ष रामसिंह यादव मंचासीन थे। कार्र्यक्रम में कर्मचारी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पिपलौदा और अध्यापक संघ के अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी सहित अन्य लोगों ने अतिथियों का माल्यार्र्पण द्वारा स्वागत किया। 

कार्र्यक्रम में श्री सिंधिया ने कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूं वह शिक्षकों के ज्ञान की बदौलत हूं। सरकार और समाज का पहला दायित्व यह होना चाहिए कि शिक्षक समस्याग्रस्त न रहे लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि 14 साल के भाजपा शासन काल में शिक्षकों और अध्यापकों की समस्याओं के लिए सरकार का कोई ध्यान नहीं है। अध्यापक आज शिक्षा विभाग के कर्मचारी नहीं है, लेकिन प्रदेश में यदि अगले चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनती हैं तो पहली कैबिनेट में ही अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किया जाएगा। कार्यक्रम में राजेन्द्र पिपलौदा और धर्र्मेन्द्र रघुवंशी ने शिक्षकों और अध्यापकों की समस्याओं से अतिथियों को अवगत कराया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week