मुझे लगा था Shreejit भी नाराज हो गए होंगे: Begum Jaan (Vidya balan)

Monday, March 20, 2017

'बेगम जान' को लेकर विद्या कहती हैं, 'श्रीजीत जब बंगाली में इस फिल्म को 'राजकहिनी' के नाम से बना रहे थे तब उन्होंने मुझे इसका ऑफर दिया था। लेकिन उस समय मेरी थोड़ी तबियत खराब थी और बाद में मैं आराम करने के मूड में थी। इसलिए मैंने मना कर दिया। जिसके बाद उन्होंने रितुपर्णा सेनगुप्ता को लेकर फिल्म बना ली। बाद में मैंने जब ये फिल्म देखी तो तो मुझे लगा कि ये फिल्म हिंदी में भी बननी चाहिए।'

विद्या आगे कहती है, 'मैंने जब श्रीजीत को मना किया था तो मुझे लगा नहीं था कि वह दोबारा मुझसे संपर्क करेंगे किसी डायरेक्टर को जब एक बार आप किसी फिल्म के लिए मना कर दो तो वह नाराज हो जाते हैं, मुझे लगा था श्रीजीत भी नाराज हो गए होंगे। मुझे तब बहुत खुशी हुई जब वह 'बेगम जान' का बंगाली रूप लेकर वापस मेरे पास आए और कहा कि मैंने बंगाली में फिल्म बना ली हैं अब अगर आप चाहें तो इसे हिंदी में भी बना सकते हैं, आप इसे देखिये और बताइए। इस बार मैंने दो दिन में ही फिल्म करने के लिए हां कर दिया था।'

अभिनेत्री विद्या बालन इन दिनों अपनी रिलीज के लिए तैयार फिल्म 'बेगम जान' के प्रमोशन में जी जान से जुटी है। श्रीजीत मुखर्जी के निर्देशन में बनी 'बेगम जान' अपने पोस्टर के टैगलाइन को लेकर भी काफी चर्चे में है, जिसमें लिखा है मेरा जिस्म, मेरा घर, मेरा देश और मेरे नियम इस टैगलाइन से पता चलता है कि इस बेगम में जान बहुत हैं। दरअसल ये टैगलाइन पूरी फिल्म को चंद शब्दों में बयां कर देती है। इसे सामाजिक मान्यताओं के बीच पिसती नारी के नए नारे के तौर पर देखा जा सकता है।

विद्या ने बताया, 'फिल्म की यह टैगलाइन फिल्म निर्देशक श्रीजीत के दिमाग की है। जब मैंने इस कैप्शन को देखा तो मुझे यह फिल्म के मिजाज के हिसाब से एकदम सटीक लगा। मुझे लगा यह सिर्फ बेगम जान के लिए ही क्यों? मैं भी तो ऐसा ही सोचती हूं कि मेरा जिस्म, मेरा घर, मेरा देश और केवल मेरे ही उसूल जब सबकुछ मेरा है तो इस पर कानून भी तो मेरा ही चलेगा।'

विद्या के मुताबिक 'बेगम जान' का किरदार बेहद मजबूत है। वास्तविक जीवन में ऐसे किरदार ज्यादा नहीं मिलते। 'बेगम जान' का किरदार एक ऐसी विद्रोही महिला का किरदार है जो आज की परिस्थिति में नई चेतना जगा सकती है। इस किरदार का अपना एक अलग ही अंदाज है जो इसे दूसरों से अलग करता है।

भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के समय की यह कहानी एक कोठे के बारे में है जो हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बॉर्डर के बीच में पड़ता है। विद्या बालन इस कोठे की मालकिन 'बेगम जान' की मुख्य भूमिका में हैं, जिनके साथ और भी लड़कियां रहती हैं। वह इन सभी के साथ मिलकर अपने घर को बचाने की लड़ाई लड़ती हैं। फिल्म की पहली झलक में विद्या के कई पावरफुल डायलॉग है। फिल्म का निर्देशन श्रीजीत मुखर्जी ने किया है, यह फिल्म 14 अप्रैल को सिनेमा घरों में रिलीज होगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week