आतंकियों के एनकाउंटर की नहीं होगी कोई जांच: गृहमंत्री - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

आतंकियों के एनकाउंटर की नहीं होगी कोई जांच: गृहमंत्री

Tuesday, November 1, 2016

;
अनूपपुर। जेल से फरार दुर्दांत आतंकवादियों को पुलिस ने कुछ घंटों में ट्रेस कर मुठभेड में मार गिराया। यह पुलिस की वीरतापूर्ण सराहनीय कार्य है और वह इसके लिए प्रशंसा-अभिनंदन की पात्र है। आतंकवादियों के एनकाउंटर की कोई जांच नहीं कराई जायेगी, जेल से फरार होने के मामले में कुछ तथ्य हाथ लगे हैं। जिसकी मध्यप्रदेश सरकार और एन आई ए जांच करेगी। 

अनूपपुर में पत्रकारों से अनौपचारिक वार्ता करते हुए प्रदेश के गृह एवं परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने उपरोक्त विचार व्यक्त किए। प्रदेश महामंत्री अजय प्रताप सिंह, उपाध्यक्ष रामलाल रौतेल, पूर्व विधायक सुदामा सिंह सिंग्राम, जिलाध्यक्ष रामदास पुरी, विधानसभा प्रभारी रामअवध सिंह, मनोज द्विवेदी के साथ अन्य पदाधिकारियों की उपस्थिति में २ नवंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान के कार्यक्रम की तैयारी बावत स्थल निरीक्षण के लिए पहुंचे गृह मंत्री ने अपनी बात रखते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के पास उपचुनाव में जनता के समक्ष रखने के लिए मुद्दे भी हैं और प्रदेश-केंद्र सरकार द्वारा किए गए कार्यों की उपलब्धि भी। हम अच्छे मतों से यह चुनाव जीतने जा रहे हैं। 

मोदी प्रधानमंत्री-हम सबका सौभाग्य
गृह मंत्री ने कहा कि यह हम सबका सौभाग्य है कि नरेंद्र मोदी हमारे प्रधानमंत्री हैं जो शपथ ग्रहण करने के बाद निरंतर 24 घंटे बिना अवकाश लिए देशहित में कार्य कर रहे हैं। स्थिरता, विकास एवं आर्थिक प्रगति देश की उपलब्धि है, कार्यकर्ताओं की बडी संख्या हमारी ताकत है। भाजपा का देश में कोई विकल्प नहीं है। 

मध्यप्रदेश पुलिस को धन्यवाद
भोपाल एनकाउंटर बावत पूछे गए प्रश्न के जवाब में गृह मंत्री श्री सिंह ने कहा कि आतंकवादियों के जेल से भागने के बाद जैसे ही हमे इसकी सूचना मिली, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में तत्काल आपात बैठक बुलाकर आतंकवादियों को पकडने की योजना पर कार्य किया गया। सिमी के खूंखार आतंकवादियों पर डकैती, हत्या, लूट के कई अपराध पंजीबद्ध हैं। वे दूसरी बात जेल से भागे और यदि समय पर इनके विरूद्ध कार्यवाही न होती तो न जाने कितने लोगों की जान पर संकट बना रहता। मध्यप्रदेश पुलिस को धन्यवाद देते हुए गृह मंत्री ने उनकी सराहना की। 

अंदर-बाहर रचा गया षडयंत्र
पूछे गए प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि कई महीने की योजना के बाद आतंकवादी जेल से भागे। उनके इस कार्य में जेल के भीतर और बाहर लंबी योजना बनाई गई। शापिंग मॉल के सिक्योरिटी गार्ड से प्राप्त सूचना पर आतंकवादियों के भागने का रूट पता चला और फिर ग्रामीणों से सूचना प्राप्त हुई और मुठभेड में वे सभी मारे गये। 

विपक्ष न करे राजनीति
केजरीवाल, दिग्विजय सिंह, ओवैसी के बयानों का जिक्र आने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा से आतंकवाद की फसल वोट के रूप में काटती रही है। एक सिपाही की शहादत पर विपक्ष के किसी भी नेता ने शहीद के परिजनों से मिलना  तो दूर फोन करना तक उचित नहीं समझा ना ही निंदा के दो शब्द कहे। जनता कांग्रेस को कभी माफ नहीं करेगी। कांग्रेस पर प्रहार करते हुए श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस आतंकवाद को जातिवाद के नाम पर विभाजित करना चाहती है और यह देश के लिए बडी चुनौती है। जबकि आतंकवाद की कोई जाति, कोई धर्म नहीं होता। 
;

No comments:

Popular News This Week