मोदी जी ने हाउसवाइफ्स का दिल तोड़ दिया, पढ़िए आमजन की राय - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

मोदी जी ने हाउसवाइफ्स का दिल तोड़ दिया, पढ़िए आमजन की राय

Tuesday, November 8, 2016

;
भोपाल। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार शाम देश के नाम संदेश में कहा कि आधीरात से 500 और 1000 के नोट गैरकानूनी हो जाएंगे, बंद हो जाएंगे रद्दी हो जाएंगे। मोदीजी के इस आदेश ने समाज के विभिन्न वर्गों पर क्या प्रभाव डाला, इसकी चर्चा बाद में करेंगे परंतु भारत के मिडिल क्लास की हाउसवाइफ्स का दिल जरूर टूट गया। उन्होंने पतिदेव को बिना बताए एक एक नोट करके एक मोटी रकम जमा कर रखी थी। अब नोट बंद हो गए। बैंक में बदलने के लिए पतिदेव को बताना पड़ेगा। सारी बचत बेकार हो गई। 

बैंक से नोट बदलना आसान नहीं होगा
सिक्योरिटी गार्ड का काम करने वाले फ्रांसिस बताते हैं कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि सरकार के इस फैसले का इकॉनामी के लिए कितना फायदेमंद होगा। वो बस इतना कहते हैं कि आड़े वक्त के लिए उन्होंने 500 और 1000 रुपए के रूप में छोटी-छोटी बचत कर रखी हैं। अब उनके लिए इन पैसों को बैंक में जमा कराकर वापस 100-100 रुपए के नोट लेना आसान नहीं होगा।

अगले तीन चार दिन का गुजारा कैसे होगा
हाउस कीपिंग का काम करने वाले भंवरलाल कहते हैं कि वह अपनी पूरी तनख्वाह एक बार में ही बैंक से निकाल लेते हैं। इस वजह से उनके पास 500 रुपए के कई नोट रखे हुए हैं। भंवरलाल की दिक्कत है कि वह कल से अपना खर्चा कैसे चलाएंगे। रोज दूध और जरूरत के हिसाब से किराना खरीदने वाले भंवरलाल के लिए अगले कुछ दिन किसी चुनौती से कम नहीं होगे।

हमारा तो दिल तोड़ दिया
गृहिणी पूनम पाटिल ने मोदी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होंने बताया कि इससे कालेधन को बाहर लाने में मदद मिलेगी। वहीं, अपने दिल की बात सांझा करते हुए वो कहती है, 'मोदी जी का यह कदम उन महिलाओं के लिए दिल तोड़ने वाला है, जो अपने पतियों से छिपाकर कुछ रुपए बचा लेती है। 

हाथ में गड्डियां हैं, कल पेमेंट करना है, क्या करूं
भोपाल से चेन्नई जा रहे अविनाश को सरकार का यह फैसला रास नहीं आ रहा है। अविनाश का कहना है कि उन्हें किसी को नकद राशि देने के लिए चेन्नई जाना है। उन्होंने एटीएम से यह राशि निकाल ली और कल सुबह उन्हें ट्रेन पकड़ना है। अब उनके अकाउंट में पैसे नहीं है और एटीएम से निकले 500 और 1000 रुपए के नोट उनके किसी काम के नहीं बचे हैंं।

सफर कर रहा हूं, एटीएम से 500 के ही नोट निकले थे, अब क्या करूं
शिवपुरी के ललित मुदगल का कहना है कि मैं ट्रेन में सफर कर रहा हूं। गुजरात से वापस मप्र आ रहा हूं। कल सुबह उज्जैन पहुंच रहा हूं। गुजरात से निकले समय दोपहर को एटीएम से 15000 रुपए निकाले थे। रास्ते में खर्चे के लिए। सारे नोट 500 के निकले। जेब में इसके अलावा कुछ नहीं है। कल उज्जैन में क्या खाउंगा, कहां रुकूंगा और उसके बाद बस से शिवपुरी तक जाना है। कैसे जाउंगा। समझ नहीं आ रहा है। उज्जैन में मेरा कोई है भी नहीं, जिससे मदद मांग लूं। 
;

No comments:

Popular News This Week