मोदी नीतिश कुमार को साथ ले जाएं और अपनी बहन से शादी करा दें: रावड़ी देवी

Tuesday, November 29, 2016

पटना। पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेता राबड़ी देवी ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा नेता सुशील मोदी को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया है। राबड़ी देवी ने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुशील मोदी, नीतीश कुमार को अपने साथ अपने घर ले जाएं और अपनी बहन से उनकी शादी करा दें। राबड़ी ने जिस लहजे में यह कहा है उससे उनकी खीझ साफ दिख रही थी।

राबड़ी के इस बयान के बाद आशंका जताई जा रही है कि बिहार के महागठबंधन की मुश्किलें और बढ़ा सकती हैं। राबड़ी देवी पहले भी एेेसे बयान देती रही हैं, लेकिन आज उन्होंने नीतीश कुमार को भी नहीं छोड़ा और उनपर भी छींटाकशी की।

जब तक भाजपा माफी नहीं मांगती सदन नहीं चलने देंगे
राबड़ी देवी आज विधानमंडल की कार्यवाही में भाग लेने पहुंची थीं और राजद नेता और कार्यकर्ताओं के साथ नोटबंदी का विरोध कर रही थीं। उन्होंने केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि हम काला धन नहीं नोटबंदी के खिलाफ हैं और जबतक भाजपा माफी नहीं मांगती तबतक सदन की कार्यवाही नहीं चलने देंगे।

मेरे घर में कालाधन ढूंढ रहे, है नहीं तो मिलेगा कहां से...
उन्होंने कहा कि विपक्ष लगातार कह रहा कि मेरे घर में कालाधन छुपा है, जो निकलेगा, सीबीआई की जांच बैठाई गई है तो बताएं कहां है हमारे घर में काला धन? सीबीआई की जांच चला रहे, चलाते रहिए जांच, कुछ मिलने वाला नहीं है, होगा तभी तो मिलेगा। हमें परेशान किया जा रहा है।

कल भी बीजेपी पर जमकर निशाना साधा था
इससे पहले कल भी नोटबंदी और कालेधन के मुद्दे पर बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भाजपा पर निशाना साधा था। नोटबंदी के फैसले को लेकर प्रधानमंत्री को खूब कोसते हुए राबड़ी देवी ने कहा कि नोटबंदी के कारण आम लोग, किसान, मजदूर सब परेशान हैं और सरकार हाथ पर हाथ धरकर बैठे हैं।

जमीन खरीदी की हिसाब दे बीजेपी
वहीं नोटबंदी से दो महीने पहले बिहार में बीजेपी द्वारा करीब चार करोड़ की जमीन खरीदी के मामले पर बोलते हुए राबड़ी देवी ने कहा कि बीजेपी के लोगों ने हर जिले में जमीन खरीदी है। अगर पैसा नहीं है तो वो किसान के पास नहीं है, अनाज भी बिक नहीं रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा को भी जमीन खरीद का हिसाब देना चाहिए।

नोटबंदी से आमजन परेशान
राबड़ी देवी ने कहा कि नोटबंदी से जनमानस परेशान है। सरकार को जवाब देना चाहिए कि ऐसी स्थिति कब तक रहेगी और सरकार हालात पर कब तक काबू पा सकेगी।

पीएम से पूछा- कहां हैं 15 लाख?
उन्होंने कहा कि पीएम ने चुनाव से पहले गरीब के खाते में 15 लाख लाने की घोषणा की थी, कहां गया वो पैसा। उन्होंने कहा कि कहावत है कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे, तो यहां वहीं हो रहा है, चोर कोतवाल को ही डांट रहा है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week