मात्र 800 रुपए में थाइरॉयड का इलाज - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

मात्र 800 रुपए में थाइरॉयड का इलाज

Wednesday, November 30, 2016

;
आज के समय में महिलाओं को सबसे ज्यादा थाइरॉयड ने अपनी चपेट में लिया हुआ है. इस बीमारी से बचने के लिए मरीज को विटामिन, प्रोटीनयुक्त और फाइबरयुक्त खाना खाने की सलाह दी जाती है. तो आइए हम आपको बताते हैं ऐसे कौने-से खाद्य पदार्थ हैं जिन्हें अपने आहार में शामिल करने से कोसों दूर भाग जाएगा थाइरॉयड. एक अनुमान के अनुसार यह आपके महीने के खर्च में 800 रुपए की बढ़ोत्तरी करेंगे। मछली और समुंद्री मछली थाइरॉयड के मरीज के लिए बहुत ही फायदेमंद है.

थाइरॉयड से बचना है तो आजमाएं ये आसान उपाय
1.मछली: थाइरॉयड के मरीजों को मछली जरुर खानी चाहिए, क्‍योंकि इसमें ज्‍यादा मात्रा में आयोडीन पाया जाता है. वैसे तो सभी मछलियों में आयोडीन पाया जाता है, लेकिन समुद्री मछलियों में ज्‍यादा मात्रा में आयोडीन होता है इसलिए समुद्री मछली जैसे, सेलफिश और झींगा खाना चाहिए.
2.दूध और दही: दूध और दही में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, मिनरल्स, कैल्शियम और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं. दही खाने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है. प्रोबायोटिक्स थाइरॉयड रोगियों में गैस्ट्रो इंटेस्टाइनल को स्‍वस्‍थ बनाए रखने में मदद करता है.
3.फल और सब्जियां : फल और सब्जिया एंटी ऑक्सीडेंट्स का प्राथमिक स्रोत होती हैं जो कि शरीर को रोगों से लड़ने में सहायता प्रदान करती हैं. सब्जियों में पाया जाने वाला फाइबर पाचन क्रिया को मजबूत करता है जिससे खाना अच्छे से पचता है. हरी और पत्तेदार सब्जियां थाइरॉयड ग्रंथि की क्रियाओं के लिए अच्छी होती हैं. लाल और हरी मिर्च, टमाटर और ब्लूबेरी खाने में शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट जाता है, इसलिए थाइरॉयड के रोगी को फल और हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए.
4.नारियल का तेल थाइरॉयड मरीजों के लिए नारियल का तेल बहुत फायदेमंद होता है. इसका इस्तेमाल आप सब्जी बनाते वक्त कर सकते हैं.
5 कॉपर और आयरन: कॉपर और आयरन युक्त आहर के सेवन से भी थाइरॉयड की समस्या ठीक हो सकती है. काजू, बादाम और सूरजमुखी के बीज में कॉपर की मात्रा अधिक होती है.

थायराइड में इन चीजों से करें परहेज
1. कैफीन : कैफीन वैसे तो सीधे थाइरॉयड नहीं बढ़ाता, लेकिन यह उन परेशानियों को बढ़ा देता है, जो थाइरॉयड की वजह से पैदा होती हैं, जैसे बेचैनी और नींद में खलल।
2.रेड मीट : रेड मीट में कोलेस्ट्रॉल और सेचुरेडेट फैट बहुत होता है. इससे वेट तेजी से बढ़ता है. थाइरॉयड वालों का वेट तो वैसे ही बहुत तेजी से बढ़ता है, इसलिए इसे अवॉयड करें इसके अलावा रेड मीट खाने से थाइरॉयड वालों को बदन में जलन की शिकायत होने लगती है.
3.एल्कोहल : शराब़, बीयर वगैरा शरीर में एनर्जी के लेवल को प्रभावित करता है. इससे थाइरॉयड की समस्या वाले लोगों की नींद में दिक्कत की शिकायत और बढ़ जाती है. इसके अलावा इससे ओस्टियोपोरोसिस का खतरा भी बढ़ जाता है.
;

No comments:

Popular News This Week