विवाद में घिरी पुलिस भर्ती परीक्षा, आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न पूछ लिए

Friday, October 7, 2016

भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित पुलिस भर्ती परीक्षा भी विवादों में घिर गई है। परीक्षार्थियों का आरोप है कि परीक्षा में पूछे गए हिंदी व अंग्रेजी के प्रश्नों में से 20 प्रतिशत सवाल आउट ऑफ सिलेबस थे। पीईबी ने नियम पुस्तिका में जो टॉपिक सिलेबस में दिए थे, उनमें से कई टॉपिक के सवाल पेपर में पूछे ही नहीं गए। परीक्षार्थियों ने आउट ऑफ सिलेबस आए सभी प्रश्नों को हटाकर मूल्यांकन कर रिजल्ट जारी करने की मांग की है। 

पीईबी ने सूबेदार, सब इंस्पेक्टर और प्लाटून कमांडर के कुल 863 पदों के लिए 4 से 15 सितंबर के बीच पुलिस भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। इसमें करीब 1 लाख 80 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए थे। परीक्षा के बाद पीईबी ने मॉडल अांसरशीट जारी की थी। लेकिन परीक्षार्थियों ने पेपर में पूछे गए सवालों के आउट ऑफ सिलेबस होने की जानकारी देकर लिखित में आपत्ति जताई। 

परीक्षार्थियों के अनुसार इंग्लिश के सभी पेपर में कंडीशनल सेन्टेंसेस पर पांच से छह सवाल पूछे गए जो सिलेबस से बाहर के थे। जबकि क्लासेज पर सवाल ही नहीं आए। इसी तरह हिंदी में पल्लवन, काव्य के भेद पर भी पूछे गए सवाल सिलेबस से बाहर के थे। कुछ सवालों के उत्तर जो मॉडल आंसरशीट में दर्शाए गए हैं उन पर भी परीक्षार्थियों ने सवाल खड़े किए हैं। परीक्षार्थियों का कहना है कि अलग-अलग शिफ्टों में हुई इस परीक्षा में आए सभी 16 पेपर में यही गड़बड़ी थी। 300 से ज्यादा परीक्षार्थियों ने आपत्ति जताई है। 

नियमानुसार आपत्तियों की जांच के बाद ही जारी करेंगे परीक्षा परिणाम 
परीक्षा के बाद पीईबी मॉडल आंसरशीट जारी कर परीक्षार्थियों से दावे आपत्ति बुलाता है। इसके बाद एक्सपर्ट की एक कमेटी बैठती है जिसमें आपत्तियों पर चर्चा की जाती है। अगर कमेटी को लगता है कि परीक्षार्थियों की आपत्तियां सही है तो नियमानुसार कार्रवाई कर रिजल्ट जारी किया जाएगा। 
भास्कर लाक्षाकार, डायरेक्टर, प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड 
-------------------------
इससे पहले भी पीईबी ने पुलिस भर्ती परीक्षा आयोजित की है। उसमें भी प्रश्नाें में गड़बड़ियां सामने आई थी। हमने सिलेबस के अनुसार परीक्षा की तैयारी की थी। पीईबी के स्तर पर हुई इस गलती से रिजल्ट बिगड़ने की संभावना है। - पवन माली, परीक्षार्थी 
-------------------------
इंग्लिश के पेपर में कंडीशनल सेन्टेंसेस के सवाल पूछे गए जो सिलेबस से बाहर के थे। जबकि क्लासेज पर सवाल ही नहीं आए, जो प्रश्न सिलेबस से बाहर के हैं उन्हें हटाकर रिजल्ट जारी करने की मांग की गई है। - जय वैष्णव, परीक्षार्थी 
-------------------------
हिंदी का जो सिलेबस दिया था उसमें भाषा बोध और काव्य बोध का जिक्र था लेकिन सवाल हिंदी साहित्य से पूछे गए। यही नहीं काव्य बोध के जो सवाल आए थे उनमें ज्यादातर सिलेबस से बाहर के थे। रीनी नीमा, परीक्षार्थी 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week