डरपोक पाकिस्तानी सेना ने गुब्बारे में भरकर भेजी धमकी

Sunday, October 2, 2016

नईदिल्ली। जिहाद के नाम पर भारत में अशांति पैदा कर पाकिस्तान में करोड़ों का घोटाला करने वाले पाकिस्तानी सेना के अफसर अब बौखला गए हैं। सीधे सीधे कुछ नहीं कह पा रहे थे गुब्बारों में भरकर संदेश भेज रहे हैं। ये गुब्बारे पंजाब के सीमावर्ती इलाकों समेत कई और जिलों में भी पाए गए हैं। गुब्बारों में खत भरे हुए हैं। ये खत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों और कुछ ग्रामीणों को भी मिले हैं।

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक बॉर्डर पर पंजाब के कई जिलों में लगभग तीन दर्जन गुब्बारे मिले हैं। एक अधिकारी के मुताबिक अधिकतर गुब्बारे फिरोजपुर, पठानकोट और अमृतसर में पाए गए हैं। इन गुब्बारों के साथ टेप के जरिए एक खत चिपकाया गया है। इन खतों में भारतीय महिलाओं और भारतीय सेना के बारे में अपशब्द लिखे गए हैं। उनमें कुछ खतों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी दी गई है। ये सारे खत उर्दू भाषा में लिखे गए हैं।

मोदी के लिए मैसेज 
पाकिस्तान से लगे पंजाब के गुरदासपुर में पीएम मोदी को उर्दू में एक संदेश भेजकर धमकाया गया है। पीले रंग के गुब्बारे पर कागज के टुकड़े पर लिखा गया है, 'मोदी जी ! अयूबी की तलवारें अभी हमारे पास हैं। इस्लाम जिंदाबाद!' दरअसल ये वही जगह है जहां पिछले साल आतंकी हमला हुआ था। गौरतलब हो कि सलाउद्दीन अयूबी की तलवार को दुनिया की सबसे धारदार तलवार कहा जाता है जो चट्टान को भी काट सकता था।

कई जिलों में मिले गुब्बारे
गुब्बारे पर चिपकाए गए पर्चे पंजाब के कई जिलों में मिले हैं। इनमें से ज्यादातर फिरोजपुर, पठानकोट और अमृतसर में मिले हैं। फिलहाल पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। गुब्बारों में कुछ पठानकोट, दीनानगर, तो कुछ फरीदकोट के करतारपुर में मिले हैं। आपको बता दें कि इससे पहले कई कबूतर भी मिले थे, जिनपर उर्दू में कोड और नंबर लिखे थे।

दीनानगर में मिले दो बैलून
दीनानगर के घेसल गांव में दो बैलून मिले। ये बैलून ए क आदमी को अपने घर के पास मिले और जब उसने देखा कि संदेश उर्दू में लिखे गये हैं तो उसने उसे पुलिस को सौंप दिया। जिन पर कथित तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से उर्दू में एक संदेश लिखा हुआ है। पुलिस को जो संदेश मिला, वह पीले रंग के बैलून पर चिपकाये गये कागज के एक टुकड़े पर अंकित है। संदेश में लिखा गया है, मोदी जी, अयूबी की तलवारें अभी हमारे पास हैं। इस्लाम जिंदाबाद।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week