जुलानिया ने बैठक में आए अधिकारी को जेल भिजवाया, 2 कलेक्टरों को बाहर निकाला

Tuesday, September 27, 2016

भोपाल। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया अब फुल फार्म में आ गए हैं। रीवा में इंदिरा और मुख्यमंत्री आवास योजना में घोटाले के आरोपी सीधी के एपीओ सत्येंद्र पटेल को उन्होंने मीटिंग के दौरान ही पुलिस बुलवाकर गिरफ्तार करवा दिया। इसके अलावा सीधी और सतना के कलेक्टरों को मीटिंग से बाहर निकाल दिया। इस दौरान जुलानिया स्कूल टीचर और कलेक्टर्स बिना होमवर्क किए स्कूल आ गए स्टूडेंट्स जैसे लग रहे थे। 

दो महीने पहले समाधान ऑनलाइन में सीधी के एपीओ सत्येन्द्र पटेल के खिलाफ इंदिरा आवास और मुख्यमंत्री आवास योजना में अपात्रों को लोन बांटे जाने संबंधी शिकायत मिली थी। इसके बाद कलेक्टर को एपीओ पर कार्रवाई करने के लिए कहा था लेकिन कलेक्टर ने कार्रवाई नहीं की। रीवा में समीक्षा बैठक के दौरान जुलानिया ने एपीओ पटेल के बारे में पूछा तो पता चला कि वो मीटिंग में ही मौजूद हैं। फिर क्या था, जुलानिया भड़क गए। उन्होंने सिंगरौली और सीधी की सीईओ निधि निवेदिता से कहा कि गड़बड़ी करने वाले एपीओ सत्येंद्र पटेल पर एफआईआर दर्ज करवाएं। जुलानिया का गुस्सा देखते हुए रीवा कलेक्टर राहुल जैन ने पुलिस बुलवाई और बैठक में शामिल हुए एपीओ पटेल को जेल भिजवा दिया। 

सीधी और सतना कलेक्टर को बैठक से बाहर निकाला 
ग्रामीण आवास से संबंधित योजनाओं की प्रगति की सही जानकारी न दे पाने पर जुलानिया ने सीधी कलेक्टर अभय वर्मा और सतना कलेक्टर नरेश पाल को बैठक से बाहर निकाल दिया। सीधी कलेक्टर आकंड़ों में भटक गए थे। इस पर जुलानिया ने वर्मा से कहा कि पहले बाहर जाओ आकंड़ों का मिलान करो। इस दौरान एक घंटे तक वे बाजू वाले कमरे में बैठकर ब्लाॅकवार आंकड़ों का मिलान करते रहे। यही गलती सतना कलेक्टर ने भी की उन्हें भी करीब 25 मिनट तक बाहर बिठाए रखा। जुलानिया ने कहा कि मैं सड़क मार्ग से मैहर से रीवा आया हूं, मैने देखा है कि आपने किस तरह के शौचालय बनवाए हैं। जुलानिया ने रीवा कलेक्टर राहुल जैन से कहा कि जिले में स्थिति ठीक नहीं है, इसे सुधारो। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं