भोपाल में महिला पार्षद ने अफसरों को चप्पल दिखाई - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

भोपाल में महिला पार्षद ने अफसरों को चप्पल दिखाई

Wednesday, August 31, 2016

;
भोपाल। नगर निगम के बैरागढ़ जोन की बैठक में नल कनेक्शन के प्रकरण स्वीकृत न होने से नाराज एक महिला पार्षद ने जोनल अधिकारी सहित बैठक में मौजूद अफसरों को चप्पल दिखाते हुए कहा कि जनता के काम न हुए तो इसी से आपका स्वागत होगा। जो अधिकारी सही काम करेंगे उनका स्वागत फूल मालाओं से किया जाएगा।

जोन कार्यालय में आयोजित बैठक में वार्ड चार की पार्षद भारती महेश खटवानी अपने साथ मालाएं और चप्पल लाई थी। बैठक में जोन के सभी वार्डों में बढ़ती गंदगी और जल कार्य विभाग के अफसरों की मनमानी का मुद्दा छाया रहा। भारती खटवानी ने कहा कि नल कनेक्शन के लिए एक माह की अवधि तय है लेकिन उनके वार्ड में 6 माह से कनेक्शन नहीं दिए जा रहे है, टाल मटोली का यह कौन सा तरीका है। 

भारती ने हाथ में रखा नया जूता उठाया और जोनल अधिकारी मतीन कुरैशी से कहा कि जो अधिकारी काम नहीं करेंगे उनका स्वागत जूतों से होगा। जो अच्छा काम करेगा उसे मालाएं पहनाएंगे। जूता हाथ में देख वहां मौजूद बाकी पार्षद और अफसर हैरान रह गए लेकिन उस समय किसी ने कुछ नहीं कहा। बैठक के बाद जेडओ ने कहा कि पार्षद का यह आचरण ठीक नहीं है।

बड़ी वजह, नहीं सुनते अफसर
पार्षदों की नाराजगी की बड़ी वजह पार्षदों की बात को तवज्जो न मिलना है। पार्षदों का कहना है कि जनता उन्हें खरी खोटी सुनाती है, लेकिन अफसर हमारी एक नहीं सुनते। हालांकि जूता दिखाने की बात पर भाजपा के पार्षदों में ही मतभेद हैं। कांग्रेस पार्षद अशोक मारण ने कहा है कि भाजपा की अंदरूनी फूट उजागर हो गई है। जेडओ पर जूता उठाना निंदनीय है।

हम पर जनता का दबाव है: भारती
जनता का कोई काम नहीं हो रहा है। एक नल कनेक्शन देने में 6 माह लगाए जा रहे हैं। जनता की तकलीफ को देखते हुए मैं माला और जूते दोनों ले गई थी। मेरा मकसद है जनहित के काम हों और अधिकारी जिम्मेदारी से पीछे न हटें।

भारती ने अच्छा किया है: साथी पार्षद
राजकुमारी राजू मीणा, पार्षद वार्ड 1 ने कहा कि मुझे लगता है भारती ने जूता दिखाकर कोई गलत काम नहीं किया है। किसी वार्ड में सफाई ढंग से नहीं हो रही है। अधिकारी नियम कायदे बताकर जरूरी काम रोक रहे हैं। मुझे लगता है भारती का आक्रोश जायज है। अफसरों को सबक लेना चाहिए।
;

No comments:

Popular News This Week