मध्यप्रदेश में सिंगल क्लिक से 48000 अतिथि शिक्षक बेरोजगार- MP EDUCATION DEPT NEWS

भोपाल।
मध्यप्रदेश में एक झटके में 48000 अतिथि शिक्षकों को बेरोजगार कर दिया गया। यह कदम तब उठाया गया जब कक्षा 10 हाई स्कूल एवं कक्षा 12 हायर सेकेंडरी स्कूल के परीक्षा परिणामों में अतिथि शिक्षक वाले स्कूलों और कक्षाओं के परीक्षा परिणाम, नियमित शिक्षक वाले स्कूलों और कक्षाओं से कई गुना बेहतर रहे। 

मध्यप्रदेश में अतिथि शिक्षकों की योग्यता एक बार फिर प्रमाणित

अतिथि शिक्षकों की योग्यता को प्रमाणित करने वाले ऐसे उदाहरण हर जिले में मौजूद हैं। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गुलावता जिला राजगढ़ का 12वीं का रिजल्ट 99% और दसवीं का रिजल्ट 82% रहा। इस स्कूल में सिर्फ दो नियमित शिक्षक और 11 अतिथि शिक्षक नियुक्त थे। 29 अप्रैल को जारी हुए परीक्षा परिणाम, अतिथि शिक्षकों की योग्यता को प्रमाणित करते हैं। इसका अवार्ड अतिथि शिक्षकों को यह मिला कि 2 दिन बाद 1 मई 2022 को सभी को बेरोजगार कर दिया गया। भोपाल समाचार डॉट कॉम- 2012 से अतिथि शिक्षकों की आवाज। 

कितना अच्छा होता, अतिथि शिक्षकों को कमजोर विद्यार्थियों की स्पेशल क्लास में लगाते

लोक शिक्षण संचालनालय के विद्वान कमिश्नर अभय वर्मा दिनांक 7 अप्रैल 2022 के पत्र में लिखते हैं कि 30 अप्रैल 2022 के बाद अतिथि शिक्षकों की आवश्यकता नहीं है। कितना बेहतर होता यदि वह लिखते कि ' रुक जाना नहीं योजना के तहत फॉर्म भरने वाले विद्यार्थियों के लिए स्पेशल क्लास चलाई जाएगी और उसमें अच्छे परीक्षा परिणाम वाले अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति की जाए'। कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP karmchari news पर क्लिक करें.