मध्यप्रदेश में कांग्रेस का कोई नेता योग्य नहीं: कमलनाथ के ताजा बयान का तात्पर्य- MP NEWS

भोपाल
। राजनीति में हर हरकत का कोई ना कोई अर्थ होता है। कुछ शब्द तो अपने आप में महाभारत होते हैं। कमलनाथ का ताजा बयान सामने आया है। उसका तात्पर्य है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस का कोई भी नेता योग्य नहीं था। इसलिए हाईकमान ने 2018 में उन्हें दिल्ली से भोपाल भेजा। सनद रहे कि हाल ही में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने कांग्रेस पार्टी में पद को लेकर बयान दिया है। अपन मान सकते हैं कि कमलनाथ का बयान अजय सिंह राहुल और उनकी जैसे दूसरे कांग्रेसी नेताओं के सवालों का जवाब है।

कमलनाथ का ताजा बयान, ध्यान से पढ़िए क्या कहा

टीवी न्यूज़ चैनल news18 मध्य प्रदेश के ब्यूरो चीफ मनोज शर्मा के सवाल का जवाब देते हुए कमलनाथ ने कहा कि, मैं तो किसी भी पद पर रहने को इच्छुक नहीं हूं। मैंने तो अप्लाई नहीं किया था ना किसी भी पद के लिए। 1 मई 2018 को अध्यक्ष बना था। मैंने तो नहीं कहा था मुझे अध्यक्ष बना दो। मैं तो बड़ा संतुष्ट था दिल्ली में। (इस बयान को देते समय कमलनाथ की बॉडी लैंग्वेज भी काफी कुछ बयां कर रही है।)

कमलनाथ के ताजा बयान का तात्पर्य

कमलनाथ ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि मुझे कोई पद नहीं चाहिए था। मैं दिल्ली में संतुष्ट था लेकिन हाईकमान को मध्यप्रदेश में कोई योग्य कांग्रेसी नहीं मिला इसलिए उन्हें दिल्ली से भेजा गया। पिछले 2 सालों में हाईकमान को एक भी नेता ऐसा नहीं मिला जिसे प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सके। कुल मिलाकर कांग्रेस पार्टी में कमलनाथ के अलावा कोई भी नेता ऐसा नहीं है जिसमें प्रदेश अध्यक्ष बनने की या फिर पार्टी का चेहरा बनने की क्षमता हो। इस बयान का सरल अर्थ यह है कि- मध्यप्रदेश में कमलनाथ, कांग्रेश की मजबूरी है। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.