मध्यप्रदेश में आदिवासी युवाओं के लिए प्रोफेशनल ट्रेनिंग कैंप - MP NEWS

भोपाल
। वन विभाग द्वारा प्रदेश में वनों पर आश्रित रहने वाले समुदायों (जिन्हें आदिवासी भी कहते हैं) के कौशल उन्नयन और आर्थिक विकास के लिए आजादी के अमृत महोत्सव में "ग्रीन इंडिया" में चयनित लैंड स्केप में ग्रामीण युवा हितग्राहियों को स्व-रोजगार से जोड़ने की अभिनव पहल की गई है। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में 14 प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की जायेंगी। मिशन में अब तक चार वनमण्डल होशंगाबाद, पश्चिम बैतूल, दक्षिण सागर और सीहोर में प्रशिक्षण प्रारंभ किए जा चुके है। 

प्रशिक्षण कार्यशालाओं में राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेम वर्क (एन.एस.क्यू.एफ.) में 500 ग्रामीण युवाओं को विभिन्न लिंक्ड कोर्सेज लाइट मोटर व्हीकल ड्राइंविंग, टू-व्हीलर मैकेनिक, सिलाई प्रशिक्षण, कम्प्यूटर ऑपरेटर, असिस्टेंट इलेक्ट्री‍शियन, मोटर विंडिंग, अन-आर्म्ड सिक्योरिटी गार्ड, सोलर पैनल इंस्टालेशन और रिपेयर एनिमल हेल्थ वर्कर आदि विधा में प्रशिक्षण देकर पारंगत किया जाएगा। 

म.प्र. राज्य कौशल विकास और रोजगार सृजन बोर्ड (एम.पी.एस.एस.डी.ई.जी.बी) के समन्वय से विभिन्न नेशनल स्किल डेवलपमेन्ट कार्पोरेशन से सम्बद्ध व्यावसायिक प्रशिक्षण, प्रदाता द्वारा दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण राष्ट्रीय मानकों के अनुसार प्रमाणीकरण और एकरूपता के उद्देश्य से गुणवत्ता के साथ ही रोजगार के अवसर में वृद्धि का कार्य करेगा। 

पहला 45 दिन का प्रशिक्षण होशंगाबाद वन मण्डल (क्षेत्रीय) के वन ग्राम भातना में हुआ। इसमें ग्राम रांझी, भातना और लालपानी के 35 अनुसूचित जनजाति के युवक-युवतियों को असिस्टेंट, हेल्पर, इलेक्ट्रीशियन और मोटर विंडिंग का प्रशिक्षण दिलाया गया। इनमें से 7 युवाओं ने आय अर्जित करना शुरू कर दिया है। दूसरे चरण में 60 दिवस का प्रशिक्षण वन ग्राम खामापुर, वन-परिक्षेत्र चिचोली वनमण्डल में शुरू हुआ, जिसमें अनुसूचित जनजाति के 30 युवक-युवतियों के द्वारा डाटा एन्ट्री ऑपरेटर, कम्प्यूटर ऑपरेटर लेवल-4 का प्रशिक्षण लिया जा रहा है। प्रशिक्षण को कोविड-19 लॉकडाउन की वजह से बीच में बंद करना पड़ा था, जो पुन: शुरू हो गया है। 

वर्तमान में सीहोर के वन परिक्षेत्र बुधनी के ग्राम आकोला और परसवाड़ा, दक्षिण सागर के वन परिक्षेत्र सागर के ग्राम सिरोंजा और पश्चिम बैतूल के वन परिक्षेत्र चिचोली के ग्राम खामापुर में 45-60 दिवसीय चार प्रशिक्षण चल रहे है। इनमें 192 युवक-युवतियाँ प्रशिक्षण ले रहे है। इनमें असिस्टेंट, हेल्पर, इलेक्ट्रीशियन, मोटर विंडिंग, कम्प्यूटर ऑपरेटर, सिलाई, टू-व्हीलर मैकेनिक के कार्य का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here