Loading...    
   


SDO के घर से लोकायुक्त को कुछ खास नहीं मिला, जांच जारी है - JABALPUR NEWS

जबलपुर
। मध्य प्रदेश के कटनी में पदस्थ ग्रामीण यांत्रिकी सेवाएं के एसडीओ अजय कुमार सिंगौर (61 साल) के खिलाफ रिटायरमेंट की 4 महीने पहले भ्रष्टाचार (ठेकेदार से रिश्वत लेने) का मामला दर्ज करने के बाद लोकायुक्त की टीम ने काले धन की तलाश में उनके घर में सर्चिंग शुरू की परंतु यहां से लोकायुक्त की टीम को कुछ खास हाथ नहीं लगा। शायद उनकी इंफॉर्मेशन गलत थी, या फिर एसडीओ लोकायुक्त के डीएसपी से ज्यादा चालाक हैं। हालांकि, लोकायुक्त सिटी में अभी भी कुछ बड़ा मिलने की उम्मीद में सर्चिंग कर रही है।

एसडीओ अजय कुमार सिंगौर के यहां से लोकायुक्त को क्या-क्या मिला

आरईएस विभाग के एसडीओ अजय कुमार सिंगौर (61) के घर की सर्चिंग में 12.89 लाख रुपए नकदी के अलावा 2400 वर्गफीट में बना दो मंजिला मकान, 4800 वर्गफीट का खाली प्लाॅट, तीन लाख वर्तमान कीमत के जेवर, एलआईसी सहित पत्नी व बेटों के नाम के बैंक पासबुक मिले हैं। मंगलवार को लोकायुक्त ने बैंकों को पत्र लिखकर संबंधित खातों में जमा राशि की जानकारी मांगी है।

रिटायरमेंट महज 4 महीने बचे, परिवार में दो इंजीनियर बेटे और तीन बेटियां

लोकायुक्त डीएसपी दिलीप झरबड़े ने बताया कि एसडीओ अजय कुमार सिंगौर के रिटायरमेंट महज चार महीने बचे हैं। 40 वर्ष उनकी नौकरी के हो चुके हैं। परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे और तीन बेटियां हैं। तीनों बेटियों की शादी हो चुकी है। दोनों बेटे इंजीनियर हैं। भवन निर्माण भी अभी कराया गया है पुराना नहीं है।

लोकायुक्त पुलिस क्या कर रही है 

एसडीओ काले धन का कुबेर नहीं निकला, लेकिन लोकायुक्त की टीम ने हार नहीं मानी है। डीएसपी झरबड़े के मुताबिक जबलपुर में लमती सप्तऋषि नगर विजय नगर निवासी एसडीओ के पास कार, दो बाइक, घर में फर्नीचर, सोफा, टीवी, आदि सभी ऐशो आराम के सामानों का वैल्यूएशन कराया जा रहा है। मकान निर्माण में लगभग 40 से 45 लाख खर्च होने का अनुमान है। पूरी नौकरी में मिले वेतन और SDO द्वारा दर्शाए गए आय के अन्य स्रोत के बाद तय होगा कि उसकी कुल संपत्ति में कितना वैध व अवैध है। वेतन का 30 प्रतिशत ही बचत माना जाता है। लोकायुक्त टीम उसके आय की जांच में जुटी है।

एसडीओ अजय कुमार सिंगौर ठेकेदार से रिश्वत लेते गिरफ्तार किए गए थे

एसडीओ अजय कुमार सिंगौर कटनी आरईएस विभाग में पदस्थ हैं। इसी विभाग के ठेकेदार संजय नगर कटनी निवासी रवि कुमार मिश्रा ने 19 नवंबर को उनके खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत दर्ज कराई थी। रवि ने कटनी के मगरधा गांव में तालाब की खुदाई करवाई थी। कुल बिल पांच लाख रुपए का बना। इसके भुगतान के एवज में एसडीओ अजय कुमार सिंगौर 1.25 लाख रुपए रिश्वत मांग रहे थे। सोमवार को पहली किस्त के तौर पर रवि को 50 हजार रुपए लेकर कटनी बायपास स्थित रेस्टोरेंट बुलाया था। जहां टीम ने उसे रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। इसके बाद उसके घर की सर्चिंग शुरू हुई थी।

25 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here