भोपाल सहित मध्य प्रदेश के कई इलाकों में बारिश | MP NEWS
       
        Loading...    
   

भोपाल सहित मध्य प्रदेश के कई इलाकों में बारिश | MP NEWS

भोपाल। पश्चिम से पानी भरकर आए बादल अंततः मध्यप्रदेश के आसमान पर पहुंची गए। मौसम विशेषज्ञों ने 6 दिसंबर को इनके पहुंचने की उम्मीद जताई थी, थोड़ी देर हुई लेकिन 12 दिसंबर को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित कई इलाकों में बारिश की खबरें आ रही हैं। 

मध्य प्रदेश में अगले 3 दिन ऐसे ही हालात रहेंगे: मौसम विशेषज्ञ

मौसम विभाग के विशेषज्ञों के अनुसार पश्चिम विक्षोभ का असर मध्य प्रदेश में दिख रहा है, इस कारण बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने बताया कि ऐसी स्थिति अगले तीन दिन तक रह सकती है। होशंगाबाद में तेज बारिश के कारण किसानों का धान भीग गया। मंडियों में खुले में रखे धान को किसानों ने तिरपाल डालकर बचाने की कोशिश की।

भोपाल में तेज बारिश, होर्डिंग तक उड़ गए

भोपाल में सुबह से सूरज की बादलों के साथ लुकाछिपी जारी थी, दोपहर बाद बादल छाए हल्की बारिश होने लगी। भोपाल शहर में तेज बारिश के साथ हवा और बिजली कड़की हवाओं से दुकानों के लगे होर्डिंग तक उखड़ कर उड़ गए। मौसम के रुख बदलने और कई स्थानों पर हुई बूंदाबांदी से सीजन में पहली बार दिन का तापमान 7 डिग्री तक लुढ़क गया है। भोपाल में न्यूनतम 0.6 डिग्री गिरकर आज 12.6 डिग्री दर्ज किया गया। यह भी सामान्य से दो डिग्री अधिक है। यहां सुबह धुंध रही और दृश्यता 1500 मीटर तक रही। गुना में मौसम ने करवट ली है, जिले के उत्तरी हिस्सों में बारिश हुई है, बाकी जगह बादल और धुंध छाई हुई है। रात में बादलों के बावजूद तेज ठंड रही। पारा 11 डिग्री तक पहुंच गया है। 

रायसेन और मुरैना से हल्की बारिश की खबर

कुछ ऐसी ही स्थिति रायसेन में रही यहां पर कई जगह हुई बूंदाबांदी हुई और सुबह 11 बजे तक कोहरा छाया रहा। मुरैना में हल्की बारिश, फसलों को होगा लाभ मौसम विभाग ने कहा कि राजधानी भोपाल में भी बारिश हुई है और 12 और 13 दिसंबर को बूंदाबांदी भी होने का अनुमान है। 

मध्य प्रदेश में मौसम का पूर्वानुमान

मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि भोपाल में बारिश दोपहर बाद हुई है। इससे ठंड बढ़ने की पूरी संभावना है। पीके साहा ने बताया कि 12 से 14 दिसंबर के बीच ग्वालियर, चंबल एवं सागर संभाग के जिलों तथा भोपाल संभाग के राजगढ़ जिले में कहीं कहीं ओलावृष्टि हो सकती है। इसके बाद आसमान साफ हो जाएगा। मौसम का मिजाज फिर बदलने के साथ कड़ाके की ठंड शुरु होगी। गुरुवार को प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री पर्वतीय स्थल पचमढ़ी में रिकार्ड हुआ। बैतूल में 8.2, उमरिया में 9.4, ग्वालियर में 9.6, दितया में 9.9 तथा रीवा में 10.2 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।