JABALPUR में कारोबारी के यहां 1 करोड़ की डकैती | MP NEWS

Monday, May 7, 2018

जबलपुर। जबलपुर के पॉश इलाके नेपियर टाऊन स्थित एक बंगले में सोमवार सुबह डकैती की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। एक कारोबारी के यहां 8 से 10 हथियारबंद डकैत घुस आए। उन्होंने पिता पुत्र को घायल किया और पूरे परिवार को बंधक बना लिया। इसके बाद करीब 80 लाख रुपए के जेवतार समेत करीब 1 करोड़ की डकैती को अंजाम दिया। वारदात के बाद वो हथियार लहराते हुए निकल गए। पुलिस का कहना है कि घेराबंदी कर दी गई है परंतु समाचार लिखे जाने तक डकैतों का कोई सुराग नहीं लगा था। सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर पुलिस डकैतों की तलाश कर रही है। वारदात के पीछे पारधी गिरोह का हाथ होने का शक पुलिस द्वारा जताया जा रहा है।

दरवाजा खोलते ही राड से किया हमला
बंगला मालिक केके अग्रवाल के अनुसार उनकी रसल चौक में रूप कला स्टूडियो के नाम से दुकान है। वे अपनी पत्नी कांति, बेटा निखिल, बहु वर्षा और पेते तनु के साथ नेपियर टाऊन में रहते है। रात करीब तीन बजे अचानक उनके कुत्ते जोर-जोर से भौंकने लगे। कुत्तों के भैंकने से उसका बेटा निखिल जाग गया, उसने बालकनी से झांककर देखा तो कोई दिखाई नहीं दिया। इस पर नीचे आकर बाहर देखने के लिए जैसे ही दरवाजा खोला हथियारों से लैस 8 से 10 बदमाशों ने उन्हें घेर लिया और घर के अंदर आ गए। अंदर आते ही बदमाशों ने निखिल पर राड से हमला कर उसे घायल कर दिया।

पूरे परिवार को बंधक बनाया
निखिल को घायल करने के बाद डकैतों ने उससे घर में रखे माल के बारे में पूछा। निखिल द्वारा जवाब नहीं देने पर बदमाश उसे घर के अन्य सदस्यों के कमरे में ले गए। निखिल के पिता केके अग्रवाल भी शोरगुल सुनकर जाग गए थे। उन्होंने जैसे ही बदमाशों को देखा अपने कमरे का दरवाजा लगाने का प्रयास किया लेकिन बदमाशों ने राड मारकर उन्हें भी घायल कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने घर के सभी सदस्यों के हाथ-पैर बांधकर उन्हें नीचे हाल में पटक दिया और घर में लूटपाट करने लगे। डकैत घर पर रखे लगभग 80 लाख रुपए के जेवर सहित लगभग 4 लाख रुपए का माल लेकर फरार हो गए है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah