'माई का लाल' के बाद भी दलित, शिवराज सिंह से नाराज | MP NEWS

28 April 2018

MP POLITICAL NEWS | BHOPAL | दलित/आदिवासियों को अपने खाते में जमा करने के लिए CM SHIVRAJ SINGH क्या कुछ नहीं कर रहे। तीसरी पारी में शिवराज ने जो कुछ भी किया ​उसका ज्यादातर दलित और आदिवासियों के लिए ही था। आदिवासी महिलाओं को प्रतिमाह 1000 रुपए से लेकर 200 रुपए फिक्स में अनलिमिटेड बिजली तक सबकुछ। यहां तक कि हाईकोर्ट में 'प्रमोशन में आरक्षण' समाप्त हो जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट में ना केवल अपील दायर की बल्कि 'माई का लाल' जैसा भड़काऊ बयान भी दिया। इसके बाद भी दलित, शिवराज सिंह से खुश नहीं हैं। यह दावा किसी सर्वे या दलित संगठन का नहीं बल्कि कैबिनेट मंत्री का दर्जा रह चुके भाजपा नेता इंद्रेश गजभिए का है। 

शिवराज अपनी कुर्सी दलित को सौंपें
भारतीय जनता पार्टी के नेता इंद्रेश गजभिये चाहते हैं कि सीएम शिवराज सिंह अपनी कुर्सी किसी दलित नेता को सौंप दें। इंद्रेश का कहना है कि सरकार दलितों की उपेक्षा कर रही है। इंद्रेश गजभिये ने कहा कि लगातार हो रही उपेक्षा से दलित सरकार से नाराज हैं। थावरचंद गहलोत, लाल सिंह आर्य, गौरीशंकर शेजवार, सत्यानारायण जटिया में से किसी एक नेता को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है।

अमित शाह दलित चेहरा घोषित करें
उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में दलित चेहरा घोषित करें। सत्ता में फिर से आने के लिए दलित चेहरे को लेकर जनता के बीच जाने की जरूरत है। दलितों पर पिछले काफी दिनों से अत्याचार बढ़ा है। प्रमुख पदों पर सर्वण ही पदस्थ हैं। उन्होंने यह भी कहा कि छह मुद्दों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखा है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week