मोदी को रोकने ओवैसी का साथ जरूरी है: मणिशंकर अय्यर | NATIONAL NEWS

18 January 2018

नई दिल्ली। कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर (MANI SHANKAR AIYAR) 2014 से लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM NARENDRA MODI) को फायदा पहुंचाने वाले बयान दे रहे हैं। पहले 'चायवाला' फिर 'नीच आदमी' और अब जबकि कांग्रेस साफ्ट हिंदुत्व (SOFT HINDUTVA) की तरफ आगे बढ़ रही है तो मणिशंकर ने कट्टरवादी मुस्लिम नेता असदुद्दीन ओवैसी (ASADUDDIN OWAISI) को सबसे महत्वपूर्ण बता दिया है। मणिशंकर का कहना है कि यदि 2019 में BJP और मोदी को सत्ता में आने से रोकना है तो कांग्रेस (CONGRESS) को औवेसी का साथ जरूरी है। 

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव साउथ 2018 के अहम सत्र के दौरान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि 2019 के चुनावों में बीजेपी सरकार को सत्ता में वापस आने से रोकने के लिए बेहद जरूरी है कि असदुद्दीन ओवैसी गैर-बीजेपी पार्टियों के साथ चुनाव लड़ें। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी को नहीं हराया। अय्यर के मुताबिक 2004 और 2009 के आम चुनावों में कांग्रेस के नेतृत्व में चुनाव लड़ा गया और यूपीए की सरकार बनी लेकिन 2014 के चुनावों में यूपीए और गौर-बीजेपी पार्टियां बिखर गईं जिसके चलते बीजेपी को सत्ता में आने का मौका मिला।

अपनी इसी बात पर मणिशंकर अय्यर ने कहा कि ओवैसी समेत देश की सभी सेक्युलर पार्टियों को एक साथ आकर 2019 में बीजेपी का मुकाबला करने की जरूरत है। लेफ्ट पार्टियों पर उन्होंने कहा कि बीते कुछ वर्षों में लेफ्ट पार्टियां कमजोर हुई हैं लेकिन तेलंगाना में अभी भी लेफ्ट में अच्छी क्षमता है। इस सत्र के दौरान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि दक्षिण भारत में बीजेपी अनवॉन्टेड गेस्ट है। मणिशंकर ने कहा कि 2014 में बीजेपी को इतना बड़ा जनमत महज इसलिए मिला कि विपक्ष पूरी तरह से बिखर गया था। लिहाजा, 2019 में यदि गैर-बीजेपी पार्टियां एक साथ आती हैं तो उसे सत्ता से बाहर निकालना आसान हो जाएगा।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week