भाजपा नेता, उसका बेटा और पत्नी दहेज हत्यारे साबित | CRIME NEWS

Friday, January 26, 2018

गाजियाबाद। पूर्व सांसद और बीजेपी नेता नरेंद्र कश्यप, उसका बेटा सागर और पत्नी देवेन्द्री को दहेज के लिए बहू की हत्या करने का दोषी पाया गया है। कोर्ट ने उसके बेटे सागर को 7 साल की सजा सुनाई है जबकि नरेंद्र और उसकी पत्नी देवेंद्री की सजा का फैसला 27 जनवरी को होगा। कोर्ट में साबित हुआ कि दहेज के लिए पूरे परिवार ने मिलकर अपनी बहू हिंमांशी को तड़पा तड़पाकर मारा था। 

क्‍या था पूरा मामला
यूपी के गाजियाबाद जिले के कवि नगर इलाके के संजय नगर सेक्टर-23 में नरेंद्र कश्‍यप की फैमिली रहती है। बड़े बेटे डॉक्टर सागर की शादी हिमांशी से हुई थी। 6 अप्रैल 2016 को हिमांशी का शव बाथरूम में मिला था। उसके हाथ में रिवाॅल्वर भी बरामद हुई थी, जो कि पति सागर की थी। ससुरालवालों ने बताया था, बहू ने बाथरूम का दरवाजा अंदर से बंद कर खुद को गोली मार ली। उसे तुरंत यशोदा अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। हिमान्शी की शादी 27 नवंबर 2013 में हुई थी। उसने यूपी के बदायूं से पढ़ाई की थी। पिता हीरा लाल कश्यप बसपा सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री थे। उन्होंने ससुरालवालों के ख‍िलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया था।

पिता ने बताई थी बेटी की मौत की ये वजह
हिमान्शी के पिता हीरा लाल कश्यप ने का कहना है कि मैंने शव देखा तो बेटी के शरीर पर चोटों के निशान थे। आंखों में घूसे मारे गए थे, नाक टूटी थी, गाल लाल थे और बाल खींचे गए थे। सिर की हड्डी टूटी हुई थी। दो-दो गोली मारी गई थी। हाथ मोड़ कर टेढ़े कर दिए गए थे। बेटी गाय की तरह थी, लेकिन उसे दहेज के लिए मार दिया। ससुराल वाले फॉर्च्यूनर कार और हार मांग रहे थे। बड़ी दर्दनाक तरीके से मारा उसे।

25 मार्च 2016 को बेटी आख‍िरी बार जब घर आई थी तो उसने बताया था कि दहेज के लिए हमेशा मार पड़ती है। पति भी पताड़ित करता है। उसके कुछ दिन पहले ही सागर ने उसे इतना मारा था कि कान में गंभीर चोटें आई थीं, जिसका इलाज चल रहा था। वह ससुराल नहीं जाना चाहती थी, लेकिन मेरे समझाने के बाद गई। मैंने उससे कहा था कि कुछ दिन रुक जा, मैं कार दे दूंगा। वो बस मुझसे यही कहती थी, पापा मुझे यहां से ले चलो, ये लोग बहुत परेशान करते हैं। उन्होंने धमकी दी थी कि दोष‍ियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई और बेटी को न्याय नहीं मिला तो परिवार के साथ संसद के सामने आत्मदाह कर लूंगा।''

पहले भी 4 महीने जेल रह चुके हैं बीजेपी नेता
नरेंद्र कश्यप इससे पहले दहेज हत्या के केस 4 महीने डासना जेल में बंद थे। जुलाई 2017 में वह रिहा हुए थे। इस मामले में इनकी पत्नी देवेंद्री, बेटे सागर और सिद्धार्थ, दो ननद भी आरोपी हैं। इन पर आईपीसी की धारा 304 बी और 398 A के तहत मुकदमा दर्ज है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week